राष्ट्रपति चुनावः कोविंद की जीत तय, तृणमूल, कांग्रेस और सपा में क्रॉस वोटिंगUpdated: Tue, 18 Jul 2017 08:34 AM (IST)

समर्थन रुझानों को देखते हुए राजग उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का जीतना तय माना जा रहा है।

नई दिल्ली। देश के 14वें राष्ट्रपति को चुनने के लिए सोमवार को मतदान संपन्न हो गया। संसद समेत राज्यों के विधानसभाओं में बने 32 मतदान केंद्रों पर सांसदों और विधायकों ने वोट डाले। इस बार रिकॉर्ड 99 फीसदी मतदान हुआ है। मतगणना 20 जुलाई को होगी। हालांकि, समर्थन रुझानों को देखते हुए राजग उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का जीतना तय माना जा रहा है।

कोविंद को राजग के अलावा जदयू, अन्नाद्रमुक, टीआरएस जैसे दलों ने समर्थन का एलान किया था। विपक्षी दलों ने पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार को मैदान में उतारा था। चुनाव में क्रॉस वोटिंग भी हुई। अगरतला में तृणमूल कांग्रेस के छह बागी विधायक व कांग्रेस के एक बागी विधायक ने पार्टी लाइन से हटकर रामनाथ कोविंद को वोट दिए।

समाजवादी पार्टी के विधायक शिवपाल सिंह यादव ने भी कोविंद को वोट कर भतीजे और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से खुन्नस निकाली। छत्तीसगढ़, बिहार, उत्तराखंड, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और झारखंड समेत ग्यारह राज्यों में सौ फीसदी मतदान हुआ। संसद भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सबसे पहले वोट डाला। वह मतदान शुरू होने से दस मिनट पहले ही पहुंच गए थे।

मप्र में 228 विधायकों ने डाले वोट

मध्य प्रदेश में 230 विधायकों में से 228 ने वोट डाले। विधायी कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा अयोग्य करार दिए जाने के कारण वोट नहीं डाल पाए। जबकि, चित्रकूट के कांग्रेसी विधायक प्रेम सिंह के निधन होने से फिलहाल यह सीट खाली है।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.