कश्मीरी छात्रों से मिले राजनाथUpdated: Wed, 07 Sep 2016 11:57 PM (IST)

कश्मीर के दौरे से लौटते ही गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कश्मीरी छात्रों की समस्याओं को निपटाने की पहल शुरू कर दी।

नई दिल्ली। सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के साथ कश्मीर के दौरे से लौटते ही गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कश्मीरी छात्रों की समस्याओं को निपटाने की पहल शुरू कर दी। बुधवार को उन्होंने देश के विभिन्न हिस्सों में पढ़ रहे कश्मीरी छात्रों को बुला कर उनकी समस्याएं सुनीं और उन्हें दूर करने का भरोसा भी दिलाया। राजनाथ सिंह ने छात्रों को अपनी समस्याएं बताने के लिए बुलाया था।

इस दौरान केंद्रीय मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्री प्रकाश जावड़ेकर भी मौजूद थे। छात्रों ने प्रधानमंत्री स्कॉलरशिप को लेकर आने वाली समस्याओं के बारे में बताया। जावड़ेकर ने उन्हें भरोसा दिलाया कि सभी समस्याएं तुरंत दूर कर ली जाएंगी। जम्मू-कश्मीर के छात्रों को उच्च तकनीकी शिक्षा मुहैया करवाने के लिए केंद्र सरकार विशेष केंद्रीय छात्रवृत्ति दे रही है। इस वर्ष कुल साढ़े तीन हजार से ज्यादा छात्र केंद्रीय छात्रवृत्ति की योजना का लाभ उठा चुके हैं।

हाल में कश्मीर दौरे से लौटने के बाद गृह मंत्री ने वहां के छात्रों की समस्याओं को प्राथमिकता से निपटाने के लिए गृह मंत्रालय में अलग से एक सेल का गठन किया था। देश के विभिन्न तकनीकी शिक्षण संस्थानों में पढ़ रहे छात्रों की ओर से इसे लगातार समस्याएं भेजी जा रही थीं। सेल ने ही यह बैठक आयोजित की थी।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के मुताबिक इस वर्ष जम्मू-कश्मीर के 3,584 छात्रों को इस विशेष योजना का लाभ मिला है। इनमें से 1,329 छात्र कश्मीर घाटी के हैं। योजना के तहत चुने गए छात्र की 1.25 लाख रुपये तक की ट्यूशन फीस केंद्र सरकार वहन करती है। इसी तरह छात्र को होस्टल और अन्य खर्चों के लिए एक लाख रुपये की सहायता दी जाती है। इंजीनियरिंग के विभिन्न कोर्स में इस वर्ष से राज्य के छात्रों के लिए कोटा दो से बढ़ा कर दस सीट तक कर दिया गया है।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.