आतंकियों की आमद का पता लगाने में जुटी सेनाUpdated: Wed, 25 Nov 2015 10:38 PM (IST)

संबंधित सूत्रों ने दावा किया है कि मारे गए आतंकियों से मिले साजो-सामान बताते हैं कि वह नए ही थे।

श्रीनगर। टंगडार में बुधवार सुबह एक सैन्य शिविर पर हुए आत्मघाती हमले में शामिल जैश-ए-मुहम्मद के आतंकियों के भारतीय सीमा में घुसने और शिविर तक पहुंचने की कड़ियों को जोड़ने के लिए सेना ने जांच शुरू कर दी है। हालांकि, सभी संबंधित सैन्याधिकारी इस मामले में चुप्पी साधे हुए हैं।

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल एनएन जोशी ने सिर्फ इतना ही कहा कि अभी यह पता लगाया जा रहा है कि यह घुसपैठ कर आए हैं या पहले से ही कश्मीर में सक्रिय थे। अलबत्ता, संबंधित सूत्रों ने दावा किया है कि मारे गए आतंकियों से मिले साजो-सामान बताते हैं कि वह नए ही थे।

इसके अलावा जिस इलाके में यह हमला हुआ है, वह गुलाम कश्मीर से जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ के लिए आतंकियों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाला पुराना इलाका है। इसके अलावा यह आतंकी सिर्फ सैन्य शिविर को निशाना बनाने के लिए ही आए थे।

उन्होंने बताया कि हमले के बाद टंगडार सेक्टर उन सभी इलाकों में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई है, जहां से घुसपैठ की आशंका है। इसके अलावा एलओसी पर स्थित उन सभी रास्तों व बस्तियों की जांच की जा रही हैं, जहां से आतंकियों को घुसपैठ के दौरान मदद मिल सकती है।

आतंकी शब्बीर के खुलासे से हथियार बरामद

भठिंडी क्षेत्र से गिरफ्तार हुए लश्कर-ए-तैयबा के कश्मीरी आतंकी शब्बीर के खुलासे पर पुलिस ने शहर के बाहरी क्षेत्र से हथियार बरामद किए हैं। हालांकि, पुलिस शब्बीर के उन दो साथियों तक नहीं पहुंच पाई है, जो जम्मू में शब्बीर से मिले थे।

शब्बीर ने एसओजी को पूछताछ के दौरान खुलासा किया है कि एक और कश्मीरी आतंकी जिसका कोड नाम अबू हमजा है अपने घर से जम्मू में आतंकी गतिविधियों का संचालन कर रहा है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, कड़ी सुरक्षा बंदोबस्त में शब्बीर को पुलिस टीम अज्ञात स्थान पर ले गई, जहां से शब्बीर की निशानदेही पर पुलिस ने घातक हथियारों को बरामद किया है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.