राष्ट्रगान अपमान मामले में फारूक अब्दुल्ला के बचाव में आए उमरUpdated: Fri, 27 May 2016 11:29 PM (IST)

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला अपने पिता के समर्थन में उतर आए हैं।

जम्मू। कोलकाता में ममता बनर्जी के शपथ ग्रहण समारोह में राष्ट्रगान के दौरान मोबाइल फोन पर बात करने पर फारूक अब्दुल्ला की हो रही आलोचना को देखते हुए जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला अपने पिता के समर्थन में उतर आए हैं।

उमर ने कश्मीर में जारी मुठभेड़ों व अन्य विकास के बीच पिता के फोन करने को सही बताते हुए ट्विटर पर लिखा कि इसे ब्रेकिंग न्यूज बनाना अजीब है। ये बात ओर है कि उमर के इस तर्क की उनके फालोयर्स ने खूब खिंचाई की है।

उमर के ट्वीट के जवाब में एक फालोअर ने लिखा कि मुठभेड़ों के चलते वे क्या सुरक्षाबलों को सहयोग देने के लिए फोन कर रहे हैं। एक अन्य ने लिखा है कि क्या फारूक मुठभेड़ को खत्म करवाने के लिए आपदा प्रबंधन के कार्य में जुटे हुए हैं।

एक फालोयर ने लिखा कि जब प्रधानमंत्री के खिलाफ दुष्प्रचार करना हो तो आप भी इसमें शामिल हो जाते हो। क्या राष्ट्रगान को महत्व न देना गलत नहीं। क्या फारूक 52 सेकेंड नहीं रुक सकते थे।

यह है पूरा मामला (वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें)

शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला द्वारा राष्‍ट्रगान के अपमान का मामला सामने आया है। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने आए अब्‍दुल्ला ने राष्‍ट्रगान के दौरान उसकी गरीमा का ध्‍यान नहीं रखा। वे राष्ट्रगान के दौरान फोन पर बात करते नजर अा रहे हैं। अब यह वीडियो सोशल नेटवर्किंग साइटों पर तेजी से वायरल हो रहा है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.