हमारी भी मां है गाय, इसे पूजा जाए : फारूकUpdated: Wed, 14 Oct 2015 12:17 AM (IST)

डॉ. फारूक अब्दुल्ला ने मंगलवार को कहा कि गाय हमारी भी मां की तरह है और इसे पूजा जाना चाहिए।

जम्मू। जम्मू-कश्मीर में गोमांस प्रतिबंध को लेकर मचे घमासान के बीच पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के प्रमुख डॉ. फारूक अब्दुल्ला ने मंगलवार को कहा कि गाय हमारी भी मां की तरह है और इसे पूजा जाना चाहिए।

नवरात्र के रंग में रंगे फारूक ने मौलाना आजाद स्टेडियम में शिवसेना व डोगरा फ्रंट की ओर से श्री वैष्णो देवी की छड़ी यात्रा के दौरान समा बांधते हुए माता की प्रसिद्ध भेंट, "चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है" भी गाया। माता की ज्योति को कंधे पर उठाकर स्टेज पर ले जाने के साथ वह भेंटों पर झूमे भी।

दोपहर करीब तीन बजे छड़ी यात्रा की रवानगी से पूर्व अपने संबोधन में फारूक ने गोहत्या न करने का स्पष्ट संदेश देते हुए कहा कि गोमाता की भी इज्जत होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अदालत का आदेश आने के बाद ही राज्य में इस मुद्दे को तूल मिला। ऐसा कुछ नहीं होना चाहिए जिससे किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचे।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.