चंडीगढ़ छेड़छाड़: बराला को हाईकमान का समर्थन, इस्तीफे का सवाल ही नहींUpdated: Mon, 07 Aug 2017 08:56 PM (IST)

बेटे द्वारा सीनियर आईएएस अधिकारी की बेटी के साथ छेड़छाड़ के आरोप में घिरे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के साथ पूरी सरकार और पार्टी

चंडीगढ़। बेटे द्वारा सीनियर आईएएस अधिकारी की बेटी के साथ छेड़छाड़ के आरोप में घिरे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के साथ पूरी सरकार और पार्टी खड़ी है। पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने बराला के इस्तीफे की खबरों को बेबुनियाद करार दिया है।

पार्टी नेतृत्व को यह सफाई इसलिए देनी पड़ी, क्योंकि सोशल मीडिया से लेकर राष्ट्रीय स्तर पर सोमवार को बराला के इस्तीफा देने की चर्चाएं गर्म रहीं। सीसीटीवी कैमरे खराब होने की बात सामने आने से विपक्ष जांच पर अंगुली उठाने लगा है। खुद पीड़ित लड़की और आईएएस पिता ने रिकॉर्ड गायब होने पर सवाल उठाते हुए कहा कि इससे उनका चंडीगढ़ पुलिस पर भरोसा उठा है। उधर, राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी पुलिस को निष्पक्ष जांच की हिदायत दी है। इसके बाद चंडीगढ़ के पुलिस महानिदेशक तजिंद्र सिंह ने पुलिस अधिकारियों की बैठक लेकर भारतीय दंड संहिता हटाई गई की धारा 365 और 511 के मुद्दे पर चर्चा की। सूत्रों के अनुसार ज्यादातर अफसरों की राय थी कि अपहरण की कोशिश की धारा लगाई जानी चाहिए।

इस्तीफे की कोई वजह नहीं बनतीः अनिल जैन इस मामले में सुभाष बराला का कोई लेना-देना नहीं है। कानून अपना काम कर रहा है। उनके त्यागपत्र देने का कोई कारण नहीं बनता। पार्टी को उन पर पूरा भरोसा है। - डॉ. अनिल जैन, हरियाणा भाजपा प्रभारी

भाजपाप्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला को दिल्ली तलब किए जाने और इस्तीफे देने की खबर निराधार है। इस घटनाक्रम को राजनीतिक रंग दिया जाना ठीक नहीं है। चंडीगढ़ पुलिस की जांच में जल्द ही दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। - राजीव जैन, भाजपा प्रदेश मीडिया विभाग प्रमुख।

आईएएस की बेटी से छेड़छाड़ करने वाले को सजा मिले चाहे वह कितना भी प्रभावशाली क्यों न हो। अगर सजा नहीं मिली तो लोगों का कानून व्यवस्था से विश्वास उठ जाएगा। - अरविंद केजरीवाल, मुख्यमंत्री दिल्ली।

केंद्र व राज्य सरकार अभियुक्तों को बचाने की कोशिश में है। सीसीटीवी फुटेज के गायब होने और धाराओं में बदलाव से चंडीगढ़ पुलिस की भूमिका भी संदिग्ध है। बराला को तुरंत इस्तीफा देना चाहिए। - रणदीप सुरजेवाला, कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी

यह है मामला : आरोप है कि हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला ने शुक्रवार आधी रात को अपने दोस्त आशीष के साथ मिलकर हरियाणा कैडर के सीनियर आईएएस अधिकारी की बेटी का पीछा किया और छेड़छाड़ की। चंडीगढ़ पुलिस ने लड़की की शिकायत पर केस दर्ज कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन बाद में थाने से ही दोनों को जमानत पर छोड़ दिया गया। अपहरण की धारा भी हटा ली गई।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.