उत्तराखंड सीएम पर आज होगा फैसला, रावत दौड़ में आगेUpdated: Thu, 16 Mar 2017 10:38 PM (IST)

मुख्यमंत्री चुनने के लिए उत्तराखंड में भाजपा के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक शुक्रवार को देहरादून में तीन बजे बुलाई गई है।

नई दिल्ली। पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों के बाद गोवा, मणिपुर और पंजाब में सरकारें बन चुकी हैं। बाकी बचे उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में भी मुख्यमंत्री के नामों की घोषणा की घड़ी नजदीक आ गई है।

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री के नाम पर जहां शुक्रवार को मुहर लगेगी, वहीं उत्तर प्रदेश में इसका फैसला शनिवार को होगा। बता दें कि गोवा और मणिपुर में जहां भाजपा की सरकारें बनीं, वहीं पंजाब में गुरुवार को कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में कांग्र्रेस सरकार गठित हो गई।

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में तीन-चौथाई से बहुमत पाने के पांच दिन बाद भी भाजपा मुख्यमंत्री के नामों की घोषणा नहीं कर सकी है। अब मुख्यमंत्री चुनने के लिए उत्तराखंड में भाजपा के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक शुक्रवार को देहरादून में तीन बजे बुलाई गई है।

बैठक में केंद्रीय पर्यवेक्षक नरेंद्र तोमर और सरोज पांडेय के अलावा प्रदेश भाजपा प्रभारी श्याम जाजू भी मौजूद रहेंगे।

सूत्रों के मुताबिक, भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने मुख्यमंत्री बनने वाले नेता का नाम तो तय कर दिया है लेकिन इसकी घोषणा विधायक दल की बैठक के बाद ही होगी।

मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार त्रिवेंद्र सिंह रावत दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात कर गुरुवार शाम देहरादून लौट आए। प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने भी अमित शाह से मुलाकात की।

इस दौरान दावे भी बदलते रहे। कभी पूर्व मंत्री व पार्टी के झारखंड प्रभारी त्रिवेंद्र सिंह रावत को दौड़ में अव्वल बताया गया तो कभी पूर्व मंत्री प्रकाश पंत को। वैसे सतपाल महाराज और डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक के नाम भी चलते रहे।

उप्र में केंद्रीय संसदीय बोर्ड में तय हुए नाम पर लगेगी मुहर

उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री का फैसला 18 मार्च शाम पांच बजे भाजपा विधायकों की बैठक में होगा। पार्टी मुख्यालय में होने वाली बैठक में पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष व केंद्रीय शहरी विकास एवं सूचना प्रसारण मंत्री वैंकेया नायडू व राष्ट्रीय महामंत्री भूपेंद्र यादव बतौर पर्यवेक्षक मौजूद रहेंगे।

माना जा रहा है कि दिल्ली में केंद्रीय संसदीय बोर्ड की बैठक में तय किए गए दलनेता के नाम पर शनिवार को मुहर लग जाएगी। जिन नामों की चर्चाएं तेज हैं, उनमें केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा, प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और निवर्तमान विधानमंडल दल नेता सुरेश खन्ना भी हैं।

केशव तय करेंगे नाम :

दिल्ली में केंद्रीय संसदीय दल की बैठक समाप्त होने के बाद जब भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुख्यमंत्री के नाम पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने हल्के-फुल्के अंदाज में कहा, "जो नाम प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य तय कर देंगे वही मुख्यमंत्री होगा।"

इस पर बाद में केशव मौर्य से पूछने पर उन्होंने कहा कि "जब राष्ट्रीय अध्यक्ष ने मुझे नाम तय करने का जिम्मा दिया है तो मैं अपना नाम कैसे प्रस्तावित कर सकता हूं?"

उत्तराखंड में अनिल बलूनी को वाई श्रेणी की सुरक्षा मिलने से चर्चा गर्म

उत्तराखंड के गृह विभाग ने भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल बलूनी को वाई श्रेणी की सुरक्षा देने के आदेश जारी किए हैं। राजभवन के निर्देशों पर यह कदम उठाया गया है।

वाई श्रेणी की सुरक्षा मुख्यमंत्री या फिर बेहद महत्वपूर्ण राजनीतिक हस्तियों को दी जाती है। प्रदेश में राजनीतिक व्यक्तियों में केवल मुख्यमंत्री हरीश रावत को ही वाई श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है।

उत्तराखंड के हालिया राजनैतिक घटनाक्रम के लिहाज से इसे महत्वपूर्ण माना जा रहा है। प्रदेश में जल्द ही भाजपा सरकार का गठन होना है। प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा, इस पर शुक्रवार को फैसला होना है।

इससे एक दिन पहले अचानक ही पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल बलूनी को वाई श्रेणी की सुरक्षा देने के आदेश से चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। हालांकि, उन्हें यह सुरक्षा पाकिस्तान से मिल रही धमकियों के बाद दी गई है।

उप्र भाजपा अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य अस्पताल में भर्ती

उत्तर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य को तबीयत खराब होने पर गुरुवार को दिल्ली स्थित आरएमएल (राम मनोहर लोहिया) अस्पताल में भर्ती कराया गया।

उन्हें नर्सिंग होम के आइसीयू में रखा गया है। अस्पताल प्रशासन का कहना है कि अब उनका स्वास्थ्य ठीक है। एक दिन के लिए उन्हें डॉक्टरों की निगरानी में रखा जाएगा। शुक्रवार को उन्हें छुट्टी दी जा सकती है।

अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एके गडपाइले ने कहा कि करीब एक सप्ताह से उन्हें जुकाम था। जब वह अस्पताल पहुंचे तब उनका ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ था।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.