वन रैंक वन पेंशन के समर्थन में उतरे अन्नाUpdated: Tue, 07 Jul 2015 08:55 PM (IST)

अन्ना हजारे मंगलवार को लंबे समय से लंबित 'वन रैंक वन पेंशन' (ओआरओपी) योजना लागू करने के समर्थन में उतर आए।

नई दिल्ली। सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे मंगलवार को लंबे समय से लंबित 'वन रैंक वन पेंशन' (ओआरओपी) योजना लागू करने के समर्थन में उतर आए। उनका कहना है कि यह एक "उचित मांग" है। पूर्व सैनिकों के एक समूह को लिखे पत्र में हजारे ने कहा कि वह उनके मुद्दे का समर्थन करते हैं, क्योंकि यह एक 'उचित और न्यायपूर्ण' मांग है।

इस मुद्दे पर मोदी सरकार का कहना है कि वह इसे लागू करने को लेकर प्रतिबद्ध है। गत वर्ष हुए लोकसभा चुनावों में भाजपा का यह एक प्रमुख मुद्दा था। हालांकि सरकार गठन के एक साल बाद भी वह यह लागू नहीं कर पाई है। साथ ही, योजना लागू करने में देरी का कारण भी अब तक नहीं बताया गया है।

मालूम हो पूर्व सैनिकों के एक दल ने सोमवार रात यहां भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मिलकर इस मुद्दे पर चर्चा की थी। पांच सदस्यीय दल का नेतृत्व कर रहे लेफ्टिनेंट जनरल राज कादियान (सेवानिवृत) ने बताया कि शाह ने जल्द ही इस मुद्दे पर फैसला लेने का आश्वासन दिया है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.