गांव का नाम है 'गंदा', लड़की की गुजारिश पर मोदी ने बदलवायाUpdated: Sat, 02 Jul 2016 11:43 AM (IST)

गांववालों का कह ना है कि पिछले 27 साल में जो नहीं हो सका, आज इस बच्‍ची ने वो कर दिखाया।

फतेहाबाद। हरियाणा के फतेहाबाद जिले के एक गांव की छात्रा ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर अपने गांव का नाम बदलवाने की गुहार लगाई। इस गांव का नाम है 'गंदा'। पीएमओ ने इस पत्र पर कार्रवाई करते हुए तत्‍काल फतेहाबाद और रतिया प्रशासन को गांव का नाम बदलने और समस्‍याओं का सामाधान करने के निर्देश दिए।

छात्रा ने मोदी को पत्र में लिखा था ' मेरे गांव का नाम 'गंदा' है। किसी को बताने में शर्म आती हैद। लोग हमारे गांव का नाम लेकर बेइज्‍जत करते हैं। मेरी इसका नाम बदलने की गुजारिश है।'

सातवीं कक्षा में पढ़ने वाली हरप्रीत के इस प्रयास से पूरा गांव खुश है। गांववालों का कह ना है कि पिछले 27 साल में जो नहीं हो सका, आज इस बच्‍ची ने वो कर दिखाया।

महिला को आया गुस्‍सा, पुलिस स्‍टेशन में उतार दिए कपड़े

गांव 'गंदा' की पंचायत ने 4 मार्च, 1989 को गांव का नाम बदलकर 'अजीत नगर' करने की स‍िफारिश की थी लेकिन राजस्‍व विभाव और प्रशासन की अन्‍य औपचारिकताओं के पूरे न होने के कारण यह प्रक्रिया पूरी नहीं हुई।

हरप्रीत ने पत्र में गांव का नाम बदलने की गुजारिश तो की ही, उसने गांव की अन्‍य समस्‍याओं से भी अवगत कराया। उसने पत्र में स्‍कूल की चारदीवारी न होने और आवारा पशुओं व आवारा लोग के घुस जाने की शिकायत की। पढ़‍िए हरप्रीत ने पत्र में क्‍या लिखा :

अब हरप्रीत खुश है कि उसे अब अपने गांव का नाम बताने में शर्म महसूस नहीं होगी।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.