हाई बीपी से पीड़ित हैं 20 फीसद भारतीय युवाUpdated: Tue, 07 Jun 2016 08:58 PM (IST)

ताजा अध्ययन के मुताबिक देश के 20 फीसद से ज्यादा युवाओं को उच्च रक्तचाप यानी हाई बीपी की परेशानी है।

नई दिल्ली। देश में युवाओं की सेहत को लेकर चौंकाने वाली बात सामने आई है। ताजा अध्ययन के मुताबिक देश के 20 फीसद से ज्यादा युवाओं को उच्च रक्तचाप यानी हाई बीपी की परेशानी है।

शोध में कहा गया है कि गतिहीन जीवन के कारण हो रही हाई बीपी और अन्य परेशानियां ब्रेन हेमरेज की भी वजह बन सकती हैं। हाइपरटेंशन सोसायटी ऑफ इंडिया के ए मुरुगनाथन ने कहा, 'रोजगार में लगे ज्यादातर युवाओं में तनाव और अवसाद के लक्षण हैं। उन्हें रोजाना जिंदगी में तेज भागना होता है। बदली हुई जीवनशैली, व्यवहार, खानपान की गलत आदत, धूमपान, शराब का सेवन और प्रदूषण हाई बीपी जैसी समस्याओं की वजह बन रहे हैं।'

उन्होंने कहा कि पेट पर बढ़ती चर्बी भी हाई बीपी का बड़ा कारण है। 90 सेमी से ज्यादा की कमर वाले पुरुष और 80 सेमी से ज्यादा की कमर वाली महिलाओं में हाई बीपी होने की आशंका बढ़ जाती है। भारत में कार्डियोवेस्कुलर बीमारियों से सालाना 11 लाख लोगों की मौत हो जाती है। हाई बीपी इसकी अहम वजहों में से है। शोधकर्ताओं ने कहा कि कामकाजी युवाओं के पास व्यायाम का समय नहीं होता। यह उन्हें बीमारियों के और ज्यादा करीब पहुंचा देता है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.