एक रुपए में मरीजों को देखेंगे डॉक्टर, सेंट्रल रेलवे देगा जमीनUpdated: Thu, 04 May 2017 09:47 AM (IST)

त्वचा रोग, मधुमेह और स्त्री रोग संबंधी विशेषज्ञों डॉक्टरों भी यहां का दौरा करेंगे।

मुंबई। दो महीनों के अंदर सेंट्रल रेलवे के पांच स्टेशन्स में मेडिकल फैसिलिटी शुरू होने जा रही है, जहां मरीज महज एक रुपए में डॉक्टर को दिखा सकेंगे। इस प्रोजेक्ट के लिए रेलवे मुफ्त में जमीन मुहैया कराएगा। एक क्लीनिक ने एक रुपए में चिकित्सा सेवाओं का विस्तार करने पर सहमति दे है ही।

रेलवे दुर्घटना के शिकार लोगों को आपातकालीन सहायता प्रदान करने के अलावा इस क्लीनिक में अन्य मरीजों को भी चिकित्सकीय सेवाएं मिलेंगी। क्लिनिक में एमबीबीएस डॉक्टर 24x7 मौजूद होंगे।

त्वचा रोग, मधुमेह और स्त्री रोग संबंधी विशेषज्ञों डॉक्टरों भी यहां का दौरा करेंगे। एक पैथोलॉजी लैब को भी स्थापित किया जा रहा है, जहां रियायती दरों पर जांच की जाएगी और फार्मासिस्ट सस्ती दरों पर दवाएं बेचेंगे।

सेंट्रल रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि कुर्ला, घाटकोपर, मुलुंड, वडाला और दादर में एक-रुपए में इलाज करने वाले क्लिनिक के साथ आपातकालीन चिकित्सा कक्ष (ईएमआर) बनेंगे। वे 15 अन्य स्टेशनों पर ऐसे ही क्लीनिक कुछ महीनों में स्थापित करेंगे। यह इस बात पर निर्भर करेगा कि पहला क्लीनिक कब बनकर तैयार होता है।

उच्च न्यायालय के दिशा-निर्देशों के आधार पर सेंट्रल रेलवे और वेस्टर्न रेलवे विभिन्न स्टेशनों पर ईएमआर स्थापित कर रहा है। ऐसा करने के लिए सेंट्रल रेलवे ने पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) मॉडल को अपनाया है।

इस प्रकार सेंट्रल रेलवे सिर्फ पानी, बिजली और जगह मुहैया कराएगा व इसके अलावा कोई और भुगतान नहीं करेगा। अन्य खर्च जैसे मैन-पावर, इक्विपमेंट्स इस सुविधा को स्थापित करने वाली एजेंसी वहन करेगी।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.