पुणेः गर्भवती ने 85 दिन कोमा में रहने के बाद दिया बेटी को जन्मUpdated: Wed, 13 Sep 2017 10:55 AM (IST)

बुरहानपुर की एक महिला ने करीब 85 दिनों तक कोमा में रहने के बाद स्वस्थ बेटी को जन्म दिया है।

पुणे। बुरहानपुर की एक महिला ने करीब 85 दिनों तक कोमा में रहने के बाद स्वस्थ बेटी को जन्म दिया है। पुणे के डॉक्टर महिला का जीवन बचाने में भी कामयाब रहे हैं। पिछले 8 सालों से डायबिटीज से पीड़ित 32 वर्षीय प्रगति साधवानी को जब करीब साढ़े तीन माह का गर्भ था, तभी 5 मार्च को वह अचानक ही अचेत हो गईं।

डॉक्टरों ने हाइपोग्लाइसेमिक कोमा की स्थिति बताई। उनके नर्वस सिस्टम को भी नुकसान पहुंचा था। उन्हें 20 मार्च को पुणे के रूबी हॉल क्लीनिक में न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. रूस्तम वाडिया के पास भेजा गया। लंबे समय तक कोमा में रहने से परिजनों की उम्मीदें खत्म हो चुकी थीं लेकिन आखिरकार डॉक्टरों ने महिला और उसके नवजात को बचा लिया।

परिजनों ने हॉस्पिटल की तारीफ में पीएम और मप्र के मुख्यमंत्री को भी पत्र लिखा, जिसके बाद हॉस्पिटल ने महिला के इलाज के खर्च से भी परिजनों को राहत दे दी। प्रगति करीब 132 दिन तक हॉस्पिटल में भर्ती रहीं। स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. सुनीता तेंडुलवाडकर ने बताया कि प्रगति ने जुलाई अंत में 2.2 किलोग्राम की एक पूर्ण स्वस्थ बेटी को जन्म दिया।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.