जोड़ों को दीजिए व्यायाम का साथUpdated: Thu, 25 Feb 2016 05:24 PM (IST)

ऊर्जा से भरी, दौड़ती-भागती जिंदगी अचानक थमने लगती है जब जोड़ों का दर्द घेर लेता है।

ऊर्जा से भरी, दौड़ती-भागती जिंदगी अचानक थमने लगती है जब जोड़ों का दर्द घेर लेता है। आजकल कई कारणों से कम उम्र में ही जॉइंट पेन या जोड़ों की तकलीफें लोगों के जीवन का हिस्सा बनने लगी है। ऐसे में कुछ साधारण तरीके इस तकलीफ से दूर रहने में काफी हद तक मददगार हो सकता है।

इसलिए जरूरी है उठक-बैठक

इसका मतलब सजा से कतई जुड़ा हुआ नहीं है। असल में जोड़ों की समस्याओं से ग्रसित होने की आशंका उन लोगों को भी बहुत होती है जिनकी फिजिकल एक्टिविटी एकदम कम होती है और वे किसी प्रकार का व्यायाम भी नहीं करते। ऐसे लोगों में मसल्स कमजोर हो जाती हैं और तकलीफ पैदा हो सकती है।

लचीली मसल्स मजबूत जोड़

जोड़ों के आस-पास मौजूद मसल्स को ताकतवर और लचीला बनाने से टखनों, घुटनों, कन्धों और कूल्हों जैसे जोड़ों पर दर्द से राहत पाने में मदद मिलती है।

घुटनों पर न डालें

अतिरिक्त वजन आर्थराइटिस से ग्रसित ऐसे लोग जिनका वजन अधिक है, उनमें व्यायाम से वजन को कम करके जोड़ों पर पड़ने वाले वजन को घटाने में सहायता मिल सकती है। यही नहीं व्यायाम वजन को मेंटेन करने में मददगार होता है, जिससे जोड़ों को क्षति पहुंचने से बचाया जा सकता है।

व्यायाम करने के दौरान इन बातों का रखें ध्यान

रेंज ऑफ मोशन एक्सरसाइज यानी जोड़ों को पूरी क्षमता से विभिन्न् कोणों पर घुमा-फिरा सकने और गतिमान बनाने के लिए की गई एक्सरसाइज, जो जोड़ों की अकड़न मिटाकर उन्हें आसानी से पूरी क्षमता तक हिलने-डुलने लायक बना सकती हैं और दर्द से भी राहत दिलाती हैं। ये पैसिव और एक्टिव दो प्रकार की हो सकती है। इनमें कुछ खास मशीनों का भी प्रयोग हो सकता है।

स्ट्रेंथ एक्सरसाइज, ये जोड़ों के इर्द-गिर्द मौजूद मांसपेशियों को मजबूत बनाती है। इसके साथ वेट ट्रेनिंग के भी शामिल होने से फायदा बढ़ जाता है। यदि एक्सरसाइज के दौरान सूजन ज्यादा हो तो एक-दो दिन का ब्रेक लें। आराम करने के बाद भी सूजन में आराम नहीं मिल रहा तो डॉक्टर से सलाह लेकर उचित इलाज कराएं।

एरोबिक एक्सरसाइज भी बहुत लाभकारी हो सकती हैं लेकिन इनके लिए पहले डॉक्टर से मार्गदर्शन ले लें कि यह आपकी शारीरिक स्थिति के हिसाब से सही होगी या नहीं। यह एक्सरसाइज जोड़ों के साथ पूरे शरीर को लाभ पहुंचाती हैं। इनके साथ ही स्वीमिंग, साइकल चलाना (जिम वाली या सड़क पर चलने वाली, दोनों) और सुबह-शाम तेज पैदल चलना भी जोड़ों के लिए फायदेमंद व्यायाम हैं।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.