श्रावण मास में महाकाल की दूसरी सवारी आजUpdated: Sun, 16 Jul 2017 07:29 PM (IST)

श्रावण मास में सोमवार को महाकाल की दूसरी सवारी निकलेगी। भक्तों को दो रूपों में राजाधिराज महाकाल के दर्शन होंगे।

उज्जैन। श्रावण मास में सोमवार को महाकाल की दूसरी सवारी निकलेगी। भक्तों को दो रूपों में राजाधिराज महाकाल के दर्शन होंगे। अवंतिकानाथ पालकी में चंद्रामौलेश्वर तथा हाथी पर मनमहेश रूप में विराजित होकर भक्तों को दर्शन देने निकलेंगे। सभा मंडप में पूजन के पश्चात शाम 4 बजे सवारी प्रारंभ होगी।

11 क्विंटल फूलों से सजा महाकाल का फूल बंगला

विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में श्रावण मास के दूसरे सोमवार की पूर्व संध्या पर रविवार को इंदौर के उद्योगपति हेमंत नीमा की ओर से फूल बंगला सजाया गया। पुजारी प्रदीप गुरु की प्रेरणा से हुई पुष्प सज्जा में 11 क्विंटल देशी-विदेशी फूलों का उपयोग किया गया।

मंदिर के गर्भगृह से मुख्य द्वार तक फूलों की लड़ियां देश-विदेश से आने वाले भक्तों का मन मोह रही हैं। 20 और 21 अगस्त को महाकाल की शाही सवारी के अवसर पर बाबा बम बम नाथ समिति के धर्मेंद्र जोशी की ओर से पुष्प सज्जा होगी। प्रशासक सुजानसिंह रावत ने बताया समिति को शर्तों के साथ अनुमति दी गई है।

त्रिवेणी संग्रहालय में डमरू पर प्रदर्शनी

संस्कृति विभाग द्वारा स्थापित त्रिवेणी कला एवं पुरातत्व संग्रहालय में डमरू के रूप वैविध्य की प्रदर्शनी 'नाद का आयोजन 17 अगस्त को होगा। भगवान शिव के प्रिय वाद्य यंत्र डमरू पर आधारित प्रदर्शनी में उज्जैन निवासी नरेंद्र कुशवाह द्वारा निर्मित डमरूओं को प्रदर्शित किया जाएगा। इसमें कांच, मिट्टी, स्टील, चनी मिट्टी, बांस, लोहे, नारियल से बने डमरू रखे जाएंगे। श्रद्धालु दोपहर 12 से रात 8 बजे तक निशुल्क प्रदर्शनी का अवलोकन कर सकेंगे।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.