जायदाद में हिस्सा मांगा तो दादा व चाचा ने जिंदा जलायाUpdated: Mon, 14 Mar 2016 10:14 PM (IST)

जिले के इंदार थाना अंतर्गत पीरौंठ गांव में एक दलित युवक को उसके ही परिजनों द्वारा जिंदा जलाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है।

शिवपुरी। जिले के इंदार थाना अंतर्गत पीरौंठ गांव में एक दलित युवक को उसके ही परिजनों द्वारा जिंदा जलाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। युवक को 65 फीसदी जली अवस्था में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल में उसने बयान दिए हैं कि जायदाद में हिस्सा मांगने पर उसी के सगे चाचा व दादा ने सोते समय मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी और दरवाजे की कुंदी बाहर से बंद कर गए। युवक की हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने केस दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है।

पीरौंठ निवासी मुकेश जाटव पुत्र रमेश जाटव (30) को सोमवार की शाम 90 फीसदी जली हुई अवस्था में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यहां मुकेश व उसकी मां बलवती द्वारा दिए गए बयान के मुताबिक गांव में जमीन के बंटवारे को लेकर मुकेश के चाचा नवल व दादा फुल्ला जाटव से विवाद चल रहा था। मुकेश लगातार अपने हिस्से की डेढ़ बीघा जमीन दिए जाने के लिए उन पर दबाव बना रहा था।

मांगी थी डेढ़ बीघा जमीन

सोमवार को एक बार फिर मुकेश ने बहन की शादी करने के लिए दादा फुल्ला से उसके हिस्से की डेढ़ बीघा जमीन देने की बात कही, जिस पर दादा यह कहकर चले गए कि तुझे जमीन देता हूं। इसके बाद मुकेश अपने कमरे में जाकर सो गया, जबकि पत्नी वती शौच के लिए गई थी, तभी चाचा नवल व दादा फुल्ला पुनः वहां पहुंचे और सोते समय मुकेश पर मिट्टी का तेल डालकर आग के हवाले कर दिया तथा जाते जाते बाहर से गेट की कुंदी लगा गए, बाद में जब पत्नी शौच से लौटी तो उसने पानी डालकर मुकेश को बचाने का प्रयास किया तथा परिजनों को सूचना दी व जिला अस्पताल लाए।

इनका कहना है

मुकेश का जमीन को लेकर अपने दादा व चाचा से विवाद चल रहा था जिसके चलते उसे जिंदा जलाया गया। मामला जांच में ले लिया है और जांच उपरांत केस दर्ज किया जाएगा।

- एमके गौतम, टीआई इंदार।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.