भाई, मां- बाप जेल में, दिव्यांग हुई बेसहारा, 4 दिन से खाना भी छोड़ाUpdated: Wed, 21 Sep 2016 01:13 PM (IST)

घर में एक महिला की संदिग्ध हालत में हुई मौत की घटना ने 17- 18 वर्षीय दिव्यांग युवती को बेसहारा कर दिया है।

नरसिंहपुर। घर में एक महिला की संदिग्ध हालत में हुई मौत की घटना ने 17- 18 वर्षीय दिव्यांग युवती को बेसहारा कर दिया है। वो टूटी झोपडी में 4 दिन से घिसटते-बिलखते हुए भूखे प्यासे पड़ी है, जिसकी सुध लेने न तो गांव से कोई आया है और न कोई रिश्तेदार। मामला जिले के वनग्राम जगन्नाथपुर पंचायत गुंदरई का है।

जगन्नाथपुर में 16 सितंबर को दिव्यांग युवती की भाभी पूनम ठाकुर की संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी। जिसके बाद परिवार ने शव का अंतिम संस्कार कर दिया। सुआतला पुलिस को मामले में शिकायत मिली तो पुलिस ने मृतका के पति हल्कू और माता-पिता सब्बि बाई व भागचन्द को हिरासत में ले लिया।

घटना के बाद घर में अकेली रह गई दिव्यांग अब बेसहारा हो गई है और उसने 4 दिन से खाना पीना भी छोड़ दिया है। मामले में बाल सरंक्षण अधिकारी ब्रजेंद्र सिंह कौरव कहते है की अभी उन्हें भी सूचना मिली है मौके पर जा रहे है, जिससे युवती का उचित इलाज और रख रखाव हो सके।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.