सुबह से हुई झमाझम बारिश, पहली बार लगा कि मानसून सक्रिय हुआUpdated: Fri, 11 Aug 2017 03:52 AM (IST)

अंचल में गुरुवार से ही झमाझम बारिश शुरू हुई और दोपहर बाद तक रुक रुक कर बारिश होती रही।

मुरैना। अंचल में गुरुवार से ही झमाझम बारिश शुरू हुई और दोपहर बाद तक रुक रुक कर बारिश होती रही। जिस तरह से गुरुवार को बारिश का आगाज हुआ।

उससे इसी सीजन में पहली बार लगा कि अंचल में मानसून सक्रिय हुआ है। शाम तक अंचल में करीब 40 मिमी बारिश हो चुकी थी। इस बारिश के बाद अंचल की खरीफ की फसलों के साथ साथ रबी की फसल के लिए भी यह बारिश फायदेमंद साबित हो रही है।

शहर का हुआ हाल खराब, हर जगह जलभराव

सुबह से हुई तेज बारिश की वजह से शहर की हालत खराब हो गई। नाले व नालियों के चोक होने व ड्रेनेज सिस्टम ठीक न होने से पूरे शहर में जगह जगह पर जलभराव की स्थति बन गई। अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि शहर की एमएस रोड पर ही एक से डेढ़ फीट पानी भर गया था।

इसके अलावा शहर की निचली बस्तियों तुस्सीपुरा, उत्तमपुरा, रामनगर, पुरानी हाउसिंग बोर्ड कालोनी सहित दर्जन भर बस्तियों में जलभराव की स्थिति बन गई। आलम यह था कि यहां से निकलने में लोगों को परेशानी हो रही थी।

अभी आगामी एक दो दिन और हो सकती है इसी तरह से बारिश

मौसम विभाग के मुताबिक आगामी एक दो दिन में अंचल में इसी तरह की बारिश हो सकती है। हालांकि इस दौरान तापमान 30 से 32 डिग्री के बीच रहने की उम्मीद है।

क्या होगा बारिश का असर

इस बारिश से अंचल की खरीफ की फसल तो अच्छी होगी ही। बारिश से फसलों को जीवनदान मिल गया है। लेकिन यदि इसी तरह बीच बीच में बारिश होती रही तो आगामी दिनों में होने वाली रबी की फसल के लिए खेतों में न केवल नमी रहेगी। बल्कि सरसों व गेहूं की बोवनी भी समय पर हो जाएगी, जिससे दोनों ही पुसलों की पैदावार बढ़ जाएगी।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.