गौशाला के गेट पर ताला, अंदर भूख से तड़प रही गायUpdated: Thu, 13 Jul 2017 08:31 AM (IST)

गौशाला में एक सैकड़ा से अधिक गौवंश हैं। गौशाला के मेन गेट पर पिछले कई महीनों से ताला लटका हुआ है।

पोरसा, मुरैना। धनेटा गांव में बनी गौशाला में पिछले कुछ महीनों से ताला लटका हुआ है। गौशाला पर तैनात कर्मचारियों का कोई अता-पता नहीं है। गौशाला के अंदर बंद गायों को खाने को कुछ नहीं मिल रहा है। गाय भूखी, प्यासी तड़प रही हैं। ग्रामीणों की सूचना के बाद भी नपा प्रशासन ने गौशाला की ओर ध्यान नहीं दिया है।

नगरपालिका पोरसा द्वारा आवारा पशुओं के लिए धनेटा गांव में आठ लाख की लागत से गौशाला का निर्माण कराया गया है। गौशाला के रखरखाव के लिए तीन कर्मचारियों को भी तैनात किया गया है। गौशाला में एक सैकड़ा से अधिक गौवंश हैं। गौशाला के मेन गेट पर पिछले कई महीनों से ताला लटका हुआ है।

गौशाला पर तैनात रहने वाले तीन कर्मचारी भी मौके पर नहीं हैं। गौशाला के अंदर बंद गायों को खाने-पीने को कुछ भी नहीं मिला है, जिससे गाय भूखे मरने के कगार पर पहुंच गई हैं।

धनेटा गांव के निवासी गेट के बार से भूसा, चारा आदि डालकर गायों के खाने-पीने की व्यवस्था करने में जुटे हुए हैं। गौशाला के प्रबंधक का भी कहीं कोई अता-पता नहीं है। नपा प्रशासन द्वारा गौशाला में गायों के लिए हर माह बजट आता है। उसके बावजूद भी उन्हें भूखा रहना पड़ता है।

गौशाला में रहने वाले गौवंश की देखभाल के लिए तीन कर्मचारी तैनात हैं। गौशाला पर कर्मचारियों के न रहने की जानकारी मुझे नहीं है। जानकारी करने के बाद कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। - हनुमंत सिंह भदौरिया, सीएमओ, नपा पोरसा

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.