रिलायंस के 40 हजार उपभोक्ता परेशान, न नंबर पोर्ट हो रहे और न ही मिल रहा नेटवर्कUpdated: Mon, 13 Nov 2017 07:11 AM (IST)

रिलायंस कम्युनिकेशन कंपनी ने अपनी 2जी व 3जी सेवाएं तो बंद की ही हैं। साथ ही अपने मोबाइल टावरों को भी बंद कर दिया है।

मुरैना। रिलायंस कम्युनिकेशन कंपनी ने अपनी 2जी व 3जी सेवाएं तो बंद की ही हैं। साथ ही अपने मोबाइल टावरों को भी बंद कर दिया है। जिससे रिलायंस कंपनी के जो भी उपभोक्ता थे, उनके मोबाइलों में नेटवर्क तक नहीं आ रहे हैं। ऐसे में उपभोक्ता तो अपने नंबर को पोर्ट कराने के लिए एसएमएस भेज पा रहे हैं और न ही उसे दूसरी कंपनी में ले जा पा रहे हैं। इससे उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिलेभर में रिलायंस के करीब 40 हजार उपभोक्ता हैं। जो अपने नंबरों को पोर्ट कराने के लिए मोबाइल की दुकानों पर चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन उनकी समस्या हल नहीं हो पा रही है।

उल्लेखनीय है कि जिले में मोबाइल सेवा देने वाली रिलायंस तकरीबन सबसे पुरानी कंपनी थी। दूसरे शब्दों में रिलायंस की स्मार्ट नाम से मोबाइल सेवा सबसे पहले जिले में लॉन्च हुई थी। इसलिए इस कंपनी के अधिक उपभोक्ता हैं। खासबात यह है कि इस कंपनी के लोगों के पास 16 से 17 साल पुराने मोबाइल नंबर हैं। हालांकि समय के साथ उपभोक्ताओं ने या तो अपने नंबरों को दूसरी कंपनियों में पोर्ट करा लिया या फिर दूसरी कंपनियों से एक या उससे अधिक नंबर ले लिए।

इन उपभोक्ताओं को सबसे अधिक दिक्कत

रिलायंस कंपनी के मोबाइल सेवा बंद करने से सबसे अधिक उन उपभोक्ताओं को परेशानी आ रही है, जिनके इस कंपनी के नंबर एलपीजी बुकिंग, बैंक व अन्य सेवाओं में रजिस्टर्ड हैं। ऐसे में उपभोक्ता अपने इस रजिस्टर्ड नंबर का उपयोग नहीं कर पा रहे हैं। साथ ही उनके पास बैंक आदि संस्थाओं से मैसेज भी नहीं आ पा रहे हैं।

यह है परेशानी

- 30 अक्टूबर के बाद से कंपनी ने जिले में अपने मोबाइल टावर बंद करना शुरू कर दिए हैं। ऐसे में लोगों के फोन में नेटवर्क ही नहीं आ रहे। नेटवर्क न आने से लोग मोबाइल नंबर को पोर्ट कराने के लिए एसएमएस नहीं भेज पा रहे हैं। ऐसे में उपभोक्ताओं का नंबर पोर्ट नहीं हो पा रहा है।

- रिलायंस के जो भी स्टोर हैं, उन पर भी उपभोक्ताओं को संतोषजनक जवाब नहीं मिल रहा है। ऐसे में उपभोक्ता परेशान हो रहे हैं।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.