रेत माफिया रोकने के लिए हाइवे पर बना दिए 20 मीटर में 12 स्पीड ब्रेकरUpdated: Wed, 11 Oct 2017 03:47 AM (IST)

माफिया के वाहनों की गति धीमी करने के लिए स्पीड ब्रेकर बनाए गए हैं, लेकिन यह स्पीड ब्रेकर इतनी ज्यादा संख्या में बनाए गए हैं कि यहां से गुजरने वाले वाहनों को अपनी गति न के बराबर करनी पड़ती है।

मुरैना। नेशनल हाइवे-3 पर वन विभाग के नवनिर्मित जांच नाके के पास माफिया के वाहनों की गति धीमी करने के लिए स्पीड ब्रेकर बनाए गए हैं, लेकिन यह स्पीड ब्रेकर इतनी ज्यादा संख्या में बनाए गए हैं कि यहां से गुजरने वाले वाहनों को अपनी गति न के बराबर करनी पड़ती है। इस कारण यहां जाम लग रहा है। यहां डिवाइडर बनाने का निर्णय टास्क फोर्स की बैठक में लिया गया था। जिसके तहत एनएचएआई को सूचना देने के बाद डिवाइडर बनाए जा रहे हैं।

वन विभाग ने वन डिपो के सामने बने वन जांच नाके की लोकेशन बदलकर इसे शहर की सीमा में स्थापित किया है। ताकि रेत माफिया पर कारगर कार्रवाई हो सके। एक गाइड लाइन के तहत नेशनल हाइवे पर स्पीड ब्रेकर नहीं बनाए जा सकते। लेकिन रेत माफिया के आतंक को देखते हुए टास्क फोर्स मुरैना की एक बैठक में जांच नाके पर स्पीड ब्रेकर बनाए जाने की आवश्यकता महसूस की गई थी। लेकिन एनएचएआई ने इस पर आपत्ति जताई थी। बाद में वन विभाग ने भी एनएचएआई को अपनी समस्या बताई। इसके बाद अचानक हाइवे पर स्पीड ब्रेकर्स का निर्माण भी शुरू हो गया। पहली बार में जो ब्रेकर बनाए गए थे, वह माफिया के वाहनों के बोझ से दो दिन भी नहीं टिक सके। इसलिए इस बार बेरिकेड लगाकर मजबूत ब्रेकर बनाए गए हैं।

20 मीटर की दूरी में 12 ब्रेकर

वन जांच नाके के दोनों ओर ब्रेकर कर का निर्माण करवाया गया है। हाइवे के करीब 20 मीटर लंबे हिस्से में यह स्पीड ब्रेकर हैं। इस हिस्से में सड़क के एक ओर 4 ब्रेकर के 3 समूह यानी कि 12 ब्रेकर बनाए गए हैं। इस हिसाब से हाइवे के दोनों तरफ 20 मीटर की दूरी में 24 स्पीड ब्रेकर बनवाए गए हैं। यानी यहां से गुजरने में लोगों को बड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है।

स्पीड ब्रेकर बनने के बाद शुरू होगा नाका

नाके को शुरू करने से पहले वन विभाग यहां स्पीड ब्रेकर बना रहा है। स्पीड ब्रेकर बनने के बाद ही वन विभाग यहां कर्मचारियों को तैनात करेगा और यह नाका शुरू होगा। इसलिए स्पीड ब्रेकर बनाने में वन विभाग जल्दबाजी कर रहे हैं। यह स्पीड ब्रेकर एक्सपर्ट निर्माण एजेंसियों द्वारा नहीं बनवाए गए हैं, जिससे वाहनों के लिए यह ब्रेकर कष्टदाई साबित हो रहे हैं।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.