शादी के 11 माह बाद दुल्हन रफूचक्कर, 5 माह का गर्भ भी थाUpdated: Fri, 19 May 2017 09:25 PM (IST)

दलालों के चक्कर में फंसकर शादी और फिर दुल्हन के रफूचक्कर होने का एक मामला सामने आया है।

खरगोन। दलालों के चक्कर में फंसकर शादी और फिर दुल्हन के रफूचक्कर होने का एक मामला सामने आया है। शुक्रवार को राजपुरा निवासी तिलोक ने एसपी कार्यालय पहुंचा। पीड़ित युवक ने बताया कि उसका 11 माह पूर्व भारती पिता विजय निवासी खंडवा के साथ शादी हुई थी। भारती और तिलोक राजपुरा में अपना पारिवारिक जीवन जी रहे थे। इसी दौरान भारती को 5 माह का गर्भ भी था।

उल्लेखनीय है कि तिलोक और भारती का विवाह घुघरियाखेड़ी निवासी पूनमचंद ने कराया था। युवक ने बताया कि पूनमचंद से उसे बताया था कि भारती उसकी भतीजी है और उसके परिजन नहीं हैं। शादी कराने के बदले में पूनमचंद ने 70 हजार रुपए लिए थे।

इसके बाद पूनमचंद और मीनाबाई ने तिलोक की शादी भारती से करवाई। तिलोक ने बताया कि मीनाबाई और भारती की मां 15 मई को राजपुरा लेने आए थे। उसने पत्नी भारती को उनके साथ भेज दिया। इसके कुछ देर बाद उसे और परिजनों को शक होने पर उन्होंने पूनमचंद से बात करनी चाही, लेकिन मोबाइल बंद मिला।

बात नहीं होने पर तिलोक अपने परिजनों के साथ घुघरियाखेड़ी पूनमचंद के घर पहुंचे। यहां भी उन्हें घर पर कोई नहीं मिला। इसके बाद वे भारती के घर खंडवा के गांव कालंका भी पहुंचे। वहां भी उन्हें भारती और उसकी मां नहीं मिले। इसके बाद पीड़ित युवक ने पुलिस अधीक्षक को कार्यालय पहुंचकर शिकायत दर्ज कराते हुए पत्नी को वापस दिलाने की मांग की है।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.