हवाला कारोबार और कालेधन की जांच के लिए स्पेशल यूनिट जल्द : डीजीपीUpdated: Sun, 15 Oct 2017 10:00 PM (IST)

ये बात डीजीपी ऋषिकुमार शुक्ला ने रविवार को शहर प्रवास के दौरान कही।

जबलपुर। नोटबंदी के बाद देश भर में बड़े स्तर पर कई तरीकों से हवाला कारोबार हुआ है। कालेधन और हवाला जैसे गोरखधंधों में पुलिस के पास सीधे तौर पर जांच के अधिकार नहीं हैं।

ये बात डीजीपी ऋषिकुमार शुक्ला ने रविवार को शहर प्रवास के दौरान कही। डीजीपी ने कहा कि इनकम टैक्स और ईडी डिपार्टमेंट जैसी सेंट्रल एजेन्सियों के पास ये अधिकार हैं। मप्र पुलिस की तरफ से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुआई में होने वाली राष्ट्र स्तरीय कॉन्फ्रेंस में एक प्रस्ताव भेजा जा रहा है। जिसमें हवाला और कालेधन को लेकर पुलिस की विशेष यूनिट बनाने की अनुमति मांगी गई है। उम्मीद है कि जल्द ही इसमें मंजूरी मिल जाएगी।

डीजीपी शुक्ला के अनुसार 2020 तक प्रदेश पुलिस के पास 20 हजार कांस्टेबल, 1250 एसआई और 150 निरीक्षक स्तर के नए अधिकारी होंगे जिससे बल की कमी जैसी समस्या से बड़े स्तर निजात मिल सकेगी।

400 करोड़ के नए थाने और मकान

डीजीपी शुक्ला ने बताया कि प्रदेशभर में 400 करोड़ की लागत से नए थानों और 25 हजार नए आवासों की योजना का काम तेजी से चल रहा है। दो साल में लगभग इन सभी कामों को पूरा कर लिया जाएगा।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.