मेरे पास दो आधार कार्ड, पटवारी के फार्म में कौन सा लगा दूंUpdated: Tue, 14 Nov 2017 01:38 AM (IST)

अभी तक यही माना जाता रहा कि एक व्यक्ति का एक ही आधार कार्ड बनाया जा सकता है, लेकिन ऐसा नहीं है।

जबलपुर। अभी तक यही माना जाता रहा कि एक व्यक्ति का एक ही आधार कार्ड बनाया जा सकता है, लेकिन ऐसा नहीं है। सोमवार को पटवारी का फार्म भरने के लिए कलेक्ट्रेट पहुंचे रमेश सिंह के पास दो आधार कार्ड निकले। कलेक्ट्रेट स्थित ई गवर्नेंस शाखा पहुंचे रमेश ने पूछा कि सर मेरे पास दो आधार कार्ड हैं, लेकिन दोनों काम नहीं कर रहे हैं, पटवारी के फार्म में कौन सा लगा दूं। यह सुन कर्मचारी भी हैरान रह गए कि एक ही व्यक्ति के दो आधार कार्ड कैसे। कर्मचारियों को रमेश ने बताया कि उसने पटवारी का फार्म भरा और अपने दस्तावेज भी लगा दिए। जब आधार कार्ड को स्कैन कराया तो उसे सॉफ्टवेयर ने रिजेक्ट कर दिया। उसके फिंगर प्रिंट यानी हाथ की रेखाओं को आधार सर्वर ने ब्लॉक कर दिया है। इसके बाद वह यहां आया है।

ऐसे बना लिये दो आधार

- ई गवर्नेंस शाखा प्रभारी चित्रांशु त्रिपाठी ने बताया कि रमेश ने जिस वेंडर के पास पहला आधार बनवाया था वहां किसी तरह की गड़बड़ी नहीं हुई। लेकिन जब दूसरे आधार कार्ड के लिए आवेदन किया गया तो उसमें पता बदल दिया गया। वेंडर ने बिना छानबीन के आधार के फार्म को फाइनल कर दिया, क्योंकि आधार सर्वर हाथ की रेखाओं की पहचान कर लेता है और दोबारा कार्ड बनने से पहले ही ये बता देता है कि पहले व्यक्ति आधार जनरेट कर चुका है। इसके बाद कार्ड तो बन गए, लेकिन सॉफ्टवेयर ने फिंगर प्रिंट को ब्लॉक कर दिया। पटवारी के फार्म भरने में जब आधार की जरूरत पड़ी तो युवक को पता चला कि उसके आधार कार्ड तो काम ही नहीं कर रहे। इसके बाद वह कलेक्ट्रेट पहुंचा तो मामले का खुलासा हुआ।

एक कार्ड होगा निरस्त

- नियमानुसार एक व्यक्ति का एक ही आधार कार्ड हो सकता है। इसलिये रमेश को आधार कार्ड अपग्रेड कराना होगा और किसी एक आधार को सरेंडर भी करना होगा। इससे पहले उसे ये बताना होगा कि उसने आखिर दो पते वाले आधार क्यों बनवाए। मामले में उस वेंडर से भी पूछताछ हो सकती है जिसने रमेश का आधार कार्ड दोबारा बनाया।

पटवारी फार्म में आधार कार्ड लगाने वाला एक व्यक्ति अपनी परेशानी लेकर आया था। उसके पास उसी के नाम से दो आधार कार्ड थे। ऐसा अभी तक देखने नहीं मिला है कि एक ही व्यक्ति के दो आधार जनरेट हुए हों। उसे एक आधार निरस्त करने की जानकारी दी गई है।

-चित्राुंश त्रिपाठी, जिला ई गवर्नेंस शाखा प्रभारी

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.