सीबीएसई सिंगल गर्ल चाइल्ड को हर माह देगा स्कॉलरशिपUpdated: Tue, 14 Nov 2017 01:39 AM (IST)

सीबीएसई पढ़ने-लिखने में होशियार अपने माता-पिता की इकलौती संतान (बेटी) को सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप योजना के तहत हर माह 500 रुपए की स्कॉलरशिप देने जा रहा है।

जबलपुर। सीबीएसई पढ़ने-लिखने में होशियार अपने माता-पिता की इकलौती संतान (बेटी) को सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप योजना के तहत हर माह 500 रुपए की स्कॉलरशिप देने जा रहा है। इसके लिए ऑनलाइन फार्म भी भरवाए जा रहे हैं, लेकिन योजना की शर्तें ऐसी हैं शहर की अधिकांश सिंगल गर्ल चाइल्ड को शायद ही स्कॉलरशिप का लाभ मिल पाए। शर्तों के मुताबिक स्कॉलरशिप उन्हीं बेटियों को मिलेगी जिनकी सीबीएसई स्कूल में मंथली फीस 1500 रुपए से कम हो। लेकिन शहर में संचालित अधिकांश स्कूल ऐसे हैं जिनकी मंथली फीस ही 1500 रुपए से ज्यादा है। ज्यादातर सीबीएसई स्कूल ट्यूशन फीस ही 1550 से लेकर 2000 रुपए तक वसूल रहे हैं। मैनेजमेंट, कम्प्यूटर व दीगर फीस के नाम पर 2200 से 2800 रुपए तक लिए जा रहे।

क्या है योजना

- सीबीएसई बोर्ड अपने माता-पिता की इकलौती संतान (बेटी) को सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप योजना के तहत हर माह 500 रुपए की स्कॉलरशिप देगी।

- योजना का लाभ लेने के लिए 15 नवम्बर तक सीबीएसई बोर्ड की वेबसाइट में ऑनलाइन फार्म भरने और 30 नवम्बर तक हार्ड कापी सीधे सीबीएसई मुख्यालय भेजने की तारीख निर्धारित की गई है।

ये है शर्त

- सीबीएसई स्कूल से 10वीं की परीक्षा 60 फीसदी (6.2 सीजीपीए) अंकों से पास होना जरूरी।

- 11वीं और 12वीं में अध्ययनरत बेटियों को ही स्कॉलरशिप दी जाएगी।

- अपने माता की इकलौती संतान (बेटी) होना जरूरी। इसका प्रमाण देना होगा।

- जिस स्कूल में सिंगल गर्ल्स चाइल्ड पढ़ रही उसकी ट्यूशन फीस 1500 से कम होना जरूरी।

ऐसा है फीस का स्ट्रेक्चर

- 34 सीबीएसई स्कूल जिले में हो रहे संचालित

- 2.60 लाख छात्र-छात्राएं पढ़ रहे स्कूलों में

- 1550 से 2030 रुपए मंथली ट्यूशन फीस ज्यादातर स्कूल वसूल

- 18270 से 26290 रुपए सालाना फीस ली जा रही

अपने पैरेन्ट्स की इकलौती संतान को सिंगल गर्ल चाल्इड स्कॉलरशिप स्कीम के तहत स्कॉलरशिप देने के नियम हैं। निर्धारित शर्तें पूरी करने वालों को ही स्कॉलरशिप मिल पाएगी।

डॉ.राजेश चंदेल, अध्यक्ष, जबलपुर सहोदय ग्रुप

सीबीएसई बोर्ड ने इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी किया है। सिंगल गर्ल चाइल्ड को ही योजना का लाभ मिल पाएगा। लेकिन इसके लिए जो शर्तें हैं उसे पूरा करना होगा। पैरेन्ट्स को इसकी जानकारी दी जा रही है।

-संगीता ग्रोवर, प्रिंसिपल, स्मॉल वंडर स्कूल

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.