नाबालिग लड़की को हुआ पेट में दर्द की शिकायत, रास्ते में तोड़ा दमUpdated: Sat, 12 Aug 2017 10:54 PM (IST)

निक्की की हालत चिंताजनक होने पर डॉक्टरों ने प्राथमिक इलाज के बाद उसे 108 बुलाकर जेएएच के लिए रैफर कर दिया।

ग्वालियर। नदी पार टाल पर 12 साल की किशोरी ने पेट में दर्द की शिकायत की। परिजन इलाज के लिए किशोरी को पहले जिला अस्पताल ले गए। प्राथमिक उपचार के बाद परिजन किशोरी को जेएएच ला रहे थे।

लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। परिजनों को आशंका है कि किशोरी ने कोई जहरीला पदार्थ खाया है। पुलिस किशोरी की मौत का कारण पता लगाने के लिए जांच कर रही है।

नदी पार टाल निवासी महेंद्र सिंह जाटव के चार भाइयों का परिवार एक ही मकान में रहता है। महेंद्र के चार बेटी, एक बेटा है। शनिवार की सुबह महेंद्र घर से ट्रैक्टर लेकर निकल गए।

महिलाएं घर के कामकाज में व्यस्त थीं। अचानक महेंद्र के दूसरे नंबर की 12 साल की बेटी निक्की जाटव ने पेट में दर्द की शिकायत की। परिवार के लोग किशोरी को इलाज के लिए जिला अस्पताल ले गए।

निक्की की हालत चिंताजनक होने पर डॉक्टरों ने प्राथमिक इलाज के बाद उसे 108 बुलाकर जेएएच के लिए रैफर कर दिया। लेकिन गोला का मंदिर चौराहे पर ही किशोरी ने दम तोड़ दिया। जेएएच पहुंचने पर निक्की को डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।

जहर खाने से हुई है मौत

घरवालों ने आशंका जताई है कि निधि ने कोई जहरीला पदार्थ खा लिया है। लेकिन कमरे में परिजनों को कोई जहरीला पदार्थ नहीं मिला है। मृतक के चाचा ने बताया कि घर में कोई जहरीला पदार्थ नहीं है।

कुछ दिन पूर्व खटमल मारने की दावा अवश्य आई थी। अस्पताल की सूचना के 2 घंटे बाद पुलिस पड़ताल के लिए डेड हाउस पहुंची।

पुलिस ने बताया कि किशोरी की मौत का वास्तविक कारण पीएम रिपोर्ट से ही पता चल सकेगा। मुरार थाना पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.