'सर, मैंने पत्नी की हत्या कर दी है, मुझे गिरफ्तार कर लो'Updated: Wed, 11 Oct 2017 03:49 AM (IST)

आरोपी ने पुलिस के सामने पत्नी की हत्या करना कबूल करते हुए बताया कि संगीता बगैर बताए घर से चली जाती थी और लौट आती थी।

ग्वालियर। एमके सिटी के फ्लैट नंबर 502 में संगीता व्यास का शव मिलने के बाद पुलिस ने उसके पति रमाशंकर को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने पुलिस के सामने पत्नी की हत्या करना कबूल करते हुए बताया कि संगीता बगैर बताए घर से चली जाती थी और लौट आती थी।

उससे पूछा कहां गई थी तो वह कुछ नहीं बताती थी। सोमवार रात करीब 12 बजे उसका पत्नी से झगड़ा हुआ। संगीता उसे मारने की धमकी देकर घर से भाग रही थी। वो कमरे से निकल पाती कि उससे पहले ही मैंने उसके गले में साफी डाल दी और जमीन पर पटक लिया।

दोनों हाथों से उसका गला तब तक कसता रहा, जब तक उसकी मौत नहीं हो गई। आरोपी पति का कहना है कि उसकी पत्नी के गांव में ही रहने वाले संतोष से अवैध संबंध थे। आरोपी ने बताया कि पत्नी की हत्या करने के बाद वह रातभर उसके शव के पास बैठा रहा। सुबह बच्ची के स्कूल जाने के बाद हत्या की सूचना पुलिस व घर में मौजूद परिजनों को दी। आरोपी ने बताया कि उसे पत्नी की हत्या करने का कोई पछतावा नहीं है।

सेवढ़ा (दतिया) के दाबनी गांव निवासी रमाशंकर व्यास की शादी 13 साल पहले करैरा-पिछोर रोड स्थित उद्गवां निवासी संगीता से हुई थी। उसके तीन बेटी हैं। दो बेटी सोनम (11) व छवि (7) गांव में रहती हैं, जबकि तीसरी बेटी निधि (9) चचेरे भाई रामकृष्ण व्यास के पास पढ़ने के लिए एमके सिटी में आ गई।

कुछ समय बाद ही निधि के माता-पिता संगीता व रमाशंकर व्यास भी यहां रहने के लिए आ गए। रमाशंकर का कहना है कि वह खेतीबाड़ी करता है और एक-दो दिन बाद गांव जाने वाला था।

ऐसी हालत में पड़ा मिला शव

संगीता का शव बेड के नीचे पड़ा था। बेड की चादर भी अस्त व्यस्त थी। दोनों पैर घुटने से मुड़े थे। नाक से खून बह रहा था। गले में काफी गहरे निशान थे। साफी से कसे जाने के कारण गर्दन के आगे के हिस्से में खूून निकल आया था, जो कि सूख गया था। चूड़ियां टूटी पड़ी थीं और तकिए के पास साफी पड़ी थी। जिस पर मृतका का खून लगा था।

बगल के कमरे में किसी को सुनाई नहीं दी आवाज

फ्लैट में भतीजे रामकृष्ण के अलावा आरोपी की भाभी नीता व मौसी की लड़की प्रियंका भी थी। प्रियंका गर्भवती है, जो डिलेवरी के लिए शहर आई है। नीता, प्रियंका व निधि बगल के कमरे में सो रहे थे, लेकिन इन लोगों का कहना है कि किसी को भी कमरे से झगड़े और चिल्लाने की आवाज सुनाई नहीं दी।

पुलिस को आश्चर्य है कि किसी ने आवाज कैसे नहीं सुनी। आरोपी रामशंकर व्यास का भी कहना है कि गला कस जाने के कारण उसकी आवाज नहीं निकली, लेकिन ये बात पुलिस के गले नहीं उतर रही है। नीता व प्रियंका ने पुलिस को बताया कि कूलर चलने के कारण आवाज सुनाई नहीं दी।

बेटी के स्कूल जाने के बाद हत्या के संबंध में बताया- बेटी निधि के तैयार होकर स्कूल जाने के बाद उसने संगीता की हत्या की जानकारी घर में मौजूद अन्य लोगों को दी। तब तक कमरे में ही संगीता का शव पड़ा रहा।

गर्मियों से पति-पत्नी के बीच विवाद चल रहा था

परिजनों का कहना है कि गर्मियों से रमाशंकर व संगीता के बीच विवाद चल रहा था। रमाशंकर पत्नी के चरित्र पर संदेह करता था। उसे आशंका थी कि गांव के ही एक युवक से उसके संबंध हैं।

मुझे जला चुकी है

- आरोपी रमाशंकर ने बताया कि 4 से 5 माह पूर्व संगीता उसे मारने के इरादे से पानी गर्म करने वाली रॉड से सोते समय जला चुकी है। उसने पीठ पर जले का निशान भी दिखाया।

शराब का आदी है, सूरत भाग जाता है

संगीता की हत्या होने की सूचना मिलते ही उसका भाई व परिजन भी मौके पर पहुंच गए। मृतका के भाई का कहना है कि रमाशंकर व्यास शुरू से ही संगीता पर शक करता था और शराब के नशे का आदी है। वह खुद बगैर बताए सूरत भाग जाता है और लौट आता है।

पुलिस संगीता की मौत का असल कारण व हत्या में पति के अलावा कोई और लोग तो शामिल नहीं है, इसकी जांच कर रही है। पड़ताल इस बिंदू पर भी की जा रही है कि रमाशंकर गांव से संगीता को हत्या करने के सुनियोजित प्लान के तहत तो ग्वालियर नहीं लाया था?

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.