बदमाश बोला - टीआई साहब आप बच गए नहीं तो मैं गोली मार देताUpdated: Mon, 20 Mar 2017 12:56 AM (IST)

टीआई साहब, आप बच गए। समय नहीं मिला, नहीं तो आपको गोली मार देता।

ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। टीआई साहब, आप बच गए। समय नहीं मिला, नहीं तो आपको गोली मार देता। शेरे पंजाब होटल पर खाना खाने आए दिल्ली निवासी युवक से कट्टा अड़ाकर कार लूटने वाले बदमाश आनंद ने पकड़े जाने के बाद इसी अंदाज में टीआई पड़ाव से बात की। उसने पुलिस को यह भी बताया कि वह बीयर पीकर आ रहा था। ऑटो नहीं मिल रहा था तो सामने से आ रही कार लूट ली। उसने सुबह बयान दिया कि कार गैंगस्टर हरेन्द्र राणा के साथी धर्मंद्र नाई के लिए लूटी थी। शनिवार रात को पकड़े गए आनंद राठौर को पुलिस ने रविवार को कोर्ट में पेश कर एक दिन की पुलिस रिमांड पर लिया है।

ऐसे हुई थी घटना

दिल्ली के रोहणी निवासी सौरभ पुत्र शशिकांत शर्मा मिटलाइट कंपनी में कर्मचारी हैं। मुरार में उनकी ससुराल है। शनिवार रात वह अपने कुछ परिजन के साथ दो गाड़ियों से नई सड़क स्थित होटल शेरे पंजाब आए थे। रात को 12 बजे खाना खाने के बाद वह लौट रहे थे। एक गाड़ी में कुछ परिजन आगे निकल गए।

दूसरी गाड़ी जेन एस्टिलो क्रमांक डीएल 2 सी पी-6285 पर सौरभ अपनी पत्नी व बच्चे के साथ आ रहे थे। अभी होटल के पीछे पार्किंग से उन्होंने गाड़ी उठाई थी कि सामने युवक खड़ा मिला। उसने सौरभ की पत्नी पर कट्टा ताना। इसके बाद कार लूटकर भाग निकला। मामले की सूचना सौरभ ने तत्काल पुलिस को दी।

बाइक सवार युवक ने दिखाई हिम्मत

रात को लूट होते ही एक बाइक सवार ने सौरभ की मदद की। कार का पीछा करते हुए पुलिस कन्ट्रोल रूम को सूचना दी। कन्ट्रोल रूम में बैठे विकास ने सभी थानों व नाइट गश्त पर निकले अधिकारियों को अलर्ट किया और कार की लोकेशन बाइक सवार से मिलने पर लगातार सूचना सेट पर देते रहे। पड़ाव पुल की ओर आरोपी के कार लेकर आने की सूचना पर टीआई झांसी रोड राजकुमार शर्मा व टीआई पड़ाव संतोष यादव ने घेराबंदी की।

टीआई ने रॉन्ग साइड आकर लुटेरे के सामने थाने की बोलेरो अड़ा दी। जैसे ही आरोपी ने कार रोकी। पुलिस ने उसे दबोच लिया। उसकी पहचान जनकगंज गुप्ता कोल डिपो के सामने निवासी आनंद पुत्र नरेन्द्र राठौर के रूप में हुई है। उससे कट्टा व 7 खाली कारतूस बरामद हुए हैं। उसका कहना है कि सभी कारतूस रास्ते में चलाए हैं।

कई मामले हैं दर्ज

पूछताछ में आरोपी से पता लगा है कि उस पर लूट, चेन स्नेचिंग के साथ हत्या और दुष्कर्म के मामले भी दर्ज है। अभी 16 दिसंबर 2016 को आरोपी दुष्कर्म मामले में जेल से छूटकर आया है। उस पर शहर के थानों में 15 से अधिक मामले दर्ज हैं।

हरेन्द्र के साथी के गिरोह का सदस्य

आरोपी आनंद काफी शातिर है। यदि कार मालिक उसे कार नहीं देता तो वह गोली मारकर हत्या भी कर सकता था। आरोपी आनंद राठौर गैंगस्टर हरेन्द्र राणा के साथी धर्मेंद्र नाई के गिरोह का सदस्य था। वारदात के बाद कार उसी के लिए लूटना बता रहा था।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.