ग्वालियर में पीएमटी कांड में फंसे 6 मेडिकल छात्र बर्खास्तUpdated: Sat, 18 Mar 2017 07:51 PM (IST)

गजराराजा मेडिकल कॉलेज ने शनिवार को नकल करके पीएमटी पास करने वाले छह मेडिकल छात्रों को बर्खास्त कर दिया।

ग्वालियर। गजराराजा मेडिकल कॉलेज ने शनिवार को नकल करके पीएमटी पास करने वाले छह मेडिकल छात्रों को बर्खास्त कर दिया। इसके पूर्व कॉलेज में चार सदस्यीय कमेटी की बैठक हुई, जिसमें सभी ने इन छात्रों के निष्कासन की अनुशंसा की। इसके आधार पर ही जीआरएमसी डीन ने यह आदेश जारी किए हैं। अब ऐसे 64 अन्य छात्रों पर भी कॉलेज ने कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी है।

पीएमटी कांड में फंसे छात्रों में गजराराजा मेडिकल कॉलेज के छह छात्र भी शामिल हैं। ये छात्र वर्तमान में कॉलेज में ही अध्ययन कर रहे थे। सुप्रीम कोर्ट द्वारा ऐसे छात्रों को बर्खास्त करने के आदेश दिए गए थे। इसके चलते चिकित्सा शिक्षा विभाग भोपाल ने ऐसे करीब 600 से अधिक छात्रों की सूची तैयार करके सभी मेडिकल कॉलेजों को भेजी थी। इसके लिए गजराराजा मेडिकल कॉलेज में डीन डॉ. एसएन आयंगर की अध्यक्षता में चार सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया था। इसमें स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग की एचओडी डॉ. ज्योति बिंदल, नेत्र रोग विभाग के प्रोफेसर डॉ. डीके शाक्य एवं प्रोफेसर नीलिमा सिंह शामिल थीं। गौरतलब है कि इन बर्खास्त छात्रों की जानकारी कॉलेज प्रबंधन को 15 अप्रैल तक सुप्रीम कोर्ट को भेजना है।

ये छात्र हुए बर्खास्त

2010 बैच: चित्रेश गर्ग एवं नेहा केन

2012 बैच: गुंजित नायक, परख नायक अमाति, विनोद मेहता, विवेक तिजोरिया शामिल हैं।

क्या था मामला

पीएमटी कांड में शामिल छात्रों के आगे एवं पीछे पढ़ने वाले छात्रों को बैठाया गया था, जिससे उनको नकल करने में आसानी हो। इससे वो आसानी से पीएमटी पास कर सकें। इसी मामले में जीआरएमसी के इन छह छात्रों को भी आरोपी बनाया गया था।

अब अन्य छात्रों पर कार्रवाई की तैयारी

गजराराजा मेडिकल कॉलेज ने एसी अग्रवाल कमेटी की सिफारिश पर पीएमटी कांड में फंसे करीब 133 मेडिकल छात्रों को निष्कासित किया था। इनमें से करीब 64 छात्र हैं, जो हाईकोर्ट के आदेश पर वर्तमान में कॉलेज में अध्ययन कर रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उच्च न्यायालय खंडपीठ जबलपुर ने भी पीएमटी कांड में फंसे मेडिकल छात्रों को लेकर आदेश जारी किए हैं। ऐसे में जो छात्र हाईकोर्ट के आदेश पर पढ़ाई कर रहे हैं, उन पर भी कार्रवाई होना तय हो गया है। जीआर मेडिकल कॉलेज इन 64 छात्रों पर भी कार्रवाई की प्रक्रिया सोमवार से शुरू करने वाला है।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.