जमीन विवाद के चलते किया प्राणघातक हमला, घायल इंदौर रैफरUpdated: Tue, 21 Mar 2017 03:58 AM (IST)

सोनकच्छ। नईदुनिया न्यूज सोनकच्छ थानांतर्गत ग्राम छायनमैना में करीब सात साल पहले दो पक्षों में हुए जमीन विवाद के मामले ने सोमवार को तूल पकड़ा लिया। एक पक्ष के पांच लोगों ने मिलकर दूसरे पक्ष के एक व्यक्ति को सिर पर लाठी से वार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। घायल को सा

-सात साल पहले भी विवाद में हुई थी हत्या, पांच आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज

सोनकच्छ। नईदुनिया न्यूज

सोनकच्छ थानांतर्गत ग्राम छायनमैना में करीब सात साल पहले दो पक्षों में हुए जमीन विवाद के मामले ने सोमवार को तूल पकड़ा लिया। एक पक्ष के पांच लोगों ने मिलकर दूसरे पक्ष के एक व्यक्ति को सिर पर लाठी से वार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। घायल को सोनकच्छ अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद देवास रैफर किया, जहां से गंभीर अवस्था में इलाज के लिए इंदौर रैफर कर दिया।

पुलिस के मुताबिक घटना दोपहर करीब 1.10 बजे की है। घायल व्यक्ति के छोटे भाई मानसिंह पिता दिलीपसिंह (44) निवासी छायनमैना ने सोनकच्छ थाने पर रिपोर्ट दर्ज करवाई। दोपहर में मानसिंह, कल्याणसिंह और उनका बड़ा भाई रूपसिंह अपने ग्वाला वाले खेत पर गेहूं के पूले बैलगाड़ी में भरकर घर की ओर जा रहे थे। बड़ा भाई गाड़ी चला रहा था, जबकि मानसिंह और कल्याणसिंह गाड़ी के पीछे चल रहे थे। थोड़ा आगे खेत की मेढ़ के पास सवाईसिंह पिता फतेसिंह, तेजसिंह पिता फतेसिंह, सुरेंद्रसिंह पिता रामसिंह, नरेंद्र पिता तेजसिंह एवं यशवंत पिता सवाईसिंह सभी निवासी छायनमैना हाथ में लाठी लेकर खड़े थे। सभी लाठी लेकर रूपसिंह के साथ गालीगलौज कर उसे मारने के लिए दौड़े। इतने में रूपसिंह गाड़ी छोड़कर भागने लगा तो सभी ने पीछा किया और उस पर लाठियों से वार करना शुरू कर दिया। इससे रूपसिंह घायल होकर नीचे जमीन पर गिर गया। गिरने के बाद भी सभी उस पर वार करते रहे। इससे रूपसिंह गंभीर रूप से घायल हो गया और उसके सिर से खून बहने लगा। घायल के दोनों छोटे भाई बचाने दौड़े तो उन लोगों ने जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद डायल 100 को सूचना दी गई। सूचना मिलते ही डायल वाहन मौके पर पहुंचा और घायल रूपसिंह को इलाज के लिए सोनकच्छ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। यहां डॉक्टर ने घायल का प्राथमिक उपचार कर इलाज के लिए देवास रैफर किया, जहां से गंभीर हालत में रूपसिंह इलाज के लिए इंदौर रैफर किया गया। इंदौर में भी घायल की हालत गंभीर बताई जा रही है। पुलिस ने फरियादी की रिपोर्ट प्राणघातक हमले, बलवा सहित विभिन्ना धाराओं में पांचों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया।

इसी मामले में वर्ष 2010 में हुई थी हत्या

वर्ष 2010 में इसी जमीन विवाद के चलते घायल के पुत्र यगेंद्रसिंह ने दूसरे पक्ष के केशरसिंह पिता फतेहसिंह की छायनमैना फाटे पर गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसी रंजिश के चलते सोमवार को दूसरे पक्ष के पांचों लोगों ने मिलकर अपने भाई की हत्या का बदला हत्या के आरोपी के पिता को लाठियों से पीटकर लिया। घायल का पुत्र यगेंद्रसिंह अभी हत्या के मामले में उज्जैन जेल में बंद है।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.