Live Score

न्यूजीलैंड 6 विकेट से जीता मैच समाप्‍त : न्यूजीलैंड 6 विकेट से जीता

Refresh

बीड़ी की चिंगारी से केरोसिन के ड्रमों में भड़की आग, 13 जिंदा जलेUpdated: Fri, 21 Apr 2017 07:07 PM (IST)

बारगी स्थित सहकारी समिति केंद्र पर शुक्रवार की शाम केरोसिन के ड्रम में बीड़ी की चिंगारी से आग भड़क गई।

छिंदवाड़ा/हर्रई। जिले के हर्रई के बारगी स्थित सहकारी समिति केंद्र पर शुक्रवार की शाम केरोसिन के ड्रम में बीड़ी की चिंगारी से आग भड़क गई। सोसायटी के कक्ष में लाइन से रखे आठ से दस ड्रम तक आग फैलने से वहां खड़े चार दर्जन से अधिक लोग आग से घिर गए।

सोसायटी का पीछे का दरवाजा बंद होने से कम ही लोग बाहर निकल पाए। आग से बुरी तरह घिरे लोगों के बीच चीख पुकार मच गई। 13 लोगों की मौके पर ही जिंदा जलने से मौत हो गई। करीब 4 लोग गंभीर रूप से झुलस गए।

झुलसे लोगों को हर्रई अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। प्रभारी मंत्री गौरीशंकर बिसेन रात 9 बजे घटनास्थल पर पहुंच गए। कलेक्टर जेके जैन ने घटना की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैंं।

मृतकों के परिजन को 5-5 लाख, घायलों को दो-दो लाख

प्रदेश सरकार ने घटना में मारे गए लोगों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपए देने की घोषणा की है और घायलों को दो दो लाख रुपए दिए जाएंगे। इसके अलावा अंतिम संस्कार के लिए मृतकों के परिजन को दस-दस हजार रुपए दिए जाएंगे।

कोई अपनों को कड़े से पहचान रहा तो कोई चप्पल-जूतों से

जेसीबी से निकाले गए शव हर्रई अस्पताल की मरचुरी में रखे गए थे। जिन लोगों के परिजन केरोसिन लेने घर से निकले थे, वे अपनों को ढूंढने वहां पहुंच गए। कोई अपनों को कड़े से पहचान रहा था तो कोई जूते-चप्पलों से। पहले प्रशासन ने मृतकों की पहचान न होने पर सभी शवों पर नंबर डाल दिए थे लेकिन रात नौ बजे शिनाख्त हो गई।

पांच दिन पहले ही संदीप की आई थी लगुन, अगले महीने थी शादी

22 साल के संदीप ढेहरिया की 17 अप्रैल को ही लगुन आई थी। 29 अप्रैल को उसकी शादी होनी थी। वह शादी की तैयारियों में जुटा था। लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था। वह भी शाम पौने चार बजे मां से कहकर केरोसिन लेने राशन दुकान पर चला गया। वह भी कमरे में लाइन में लगा था। इसी बीच आग भड़की और उसकी मौत हो गई। परिजन का रो-रोकर बुरा हाल है।

आग लगने के बाद घायलों को भी नहीं मिला इलाज

घटना के बाद करीब पौन घंटे बाद मौके पर पहुंची एंबुलेंस घायलों को लेकर सबसे पहले हर्रई अस्पताल लेकर गई, लेकिन चिकित्सा सुविधा न होने के कारण सभी को नरसिंहपुर लेकर चली गई।

घटना में लापरवाही यह भी

- केरोसिन को ड्रमों में रखा गया था, जबकि यह टैंकर में रखा जाता है।

-केरोसिन सोसायटी के बाहर खुले में टीन शेड के नीचे बांटा जाता है। जबकि यहां सोसायटी के कमरे के भीतर बांटा जा रहा था।।

-सोसायटी का कमरा भीड़ से ठसाठस भरा था। इसलिए आग लगने पर लोग बाहर नहीं नहीं निकल पाए।

- घटना की सूचना स्थानीय लोगों ने तत्काल प्रशासन को दे दी थी, लेकिन करीब डेढ़ घंटे बाद फायर ब्रिगेड पहुंची। जबकि हर्रई से घटनास्थल महज 10 किमी दूर है।

- एक फायरब्रिगेड खराब पड़ी थी। गर्मी के सीजन में आगजनी की घटनाएं अधिक होती हैं, फिर भी सुधरवाई नहीं गई।

- जब हर्रई नगर पंचायत में एक ही फायरब्रिगेड थी तो प्रशासन ने दूसरी नगर पंचायत से फायर ब्रिगेड बुलाने में चार से पांच घंटे लग गए।

एक साल से किसी अधिकारी ने नहीं किया निरीक्षण, अग्निशमन यंत्र भी नहीं

इस अग्निकांड का कारण भले ही बीड़ी की चिंगारी रहा हो, लेकिन इस हादसे के लिए खाद्य विभाग के अधिकारी भी कम जिम्मेदार नहीं हैं। शासन ने ज्वलनशील पदार्थों के रखरखाव के लिए बनाए नियमों का यहां पालन ही नहीं हो रहा था। पिछले एक साल में खाद्य विभाग के किसी अधिकारी ने इस राशन दुकान का निरीक्षण भी नहीं किया।। यहां पर आगजनी से निपटने के लिए कोई इंतजाम ही नहीं थे।

हत्या का प्रकरण दर्ज करने की मांग

हिंद मजदूर प्रदेश किसान पंचायत ने अग्निकांड में जिम्मेदार खाद्य अधिकारियों पर हत्या का प्रकरण दर्ज करने की मांग की। संघ के डीके प्रजापति ने कहा कि यह हादसा बदइंतजामी का उदाहरण है। अगर अधिकारियों ने गंभीरता ने निरीक्षण किया होता और सुरक्षा के उपाय किए गए होते तो इस हादसे को टाला जा सकता था।

मृतकों की सूची

1.संतोष पिता सुरेश मालवीय

2.रामसेवक पिता घनश्याम नवरेती

3.कोमल पिता टिन्नू ढेहरिया

4.कम्मो पिता काशीराम ढेहरिया

5. लछनिया पति कम्मो ढेहरिया

6. संतू पिता विनोद ढेेहरिया

7. राकेश कहार (सेल्समेन का सहायक)

8.कृपाल पिता टिन्नू ढेहरिया

9. कुसुम बाई पति कुम्कू ढेहरिया

10. संदीप पिता नारायण

11. गणेश यादव

12. सीमा बाई यादव

13.अरविंद पिता निरपत

नोट: मृतक बिछुआ, हर्रई, बारगी और मोआरथानी गांव के रहने वाले हैं।

घायलों की सूची-

1. अंकिता

2. शेख रज्जाक

3. मनोज मालवीय

4. शिवानी

मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं

केरोसिन के ड्रम में चिंगारी के कारण आग भड़की। इस घटना में 13 लोगों की मौत हुई है। 4 लोग गंभीर घायल हैं। नरसिंहपुर में उनका इलाज चल रहा है। प्रदेश के मुख्यमंत्री ने घटना में मारे गए लोगों के परिजन को चार-चार लाख और घायलों को दो-दो लाख रुपए देने की घोषणा की हैै। अंतिम संस्कार के लिए भी दस दस हजार रुपए दिए जाएंगे। घटना की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दे दिए गए हैं। - जेके जैन, कलेक्टर, छिंदवाड़ा

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.