एक्सीडेंट में भाई की मौत के सात साल बाद उसी दिन और उसी तरह छोटे भाई की गई जानUpdated: Sat, 12 Aug 2017 04:00 AM (IST)

11 अगस्त का दिन घर के लिए बन गया अपशकुनी।

भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। नगर निगम के रिटायर असि. इंजीनियर पीसी पवार के बाइक सवार बेटे सोभित को गुरुवार की रात पौने ग्यारह बजे एक अज्ञात वाहन ने कुचल दिया। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पत्रकार कॉलोनी के पास देशी कलारी के सामने हुए इस हादसे ने हर्षवर्धन नगर निवासी पीसी पवार के जीने का आखिरी सहारा भी छीन लिया। सदमे से पिता के आंसू भी नहीं निकल रहे हैं।

उनके छोटे भाई नवीन पवार ने बताया कि 11 अगस्त का दिन उनके घर के लिए अपशकुनी बन गई है। सात साल पहले बड़ा बेटा भी इसी तरह से शाहपुरा में एक एक्सीडेंट में उन्हें छोड़कर चला गया था। सोभित पवार सागर इंजीनियरिंग कॉलेज में बीई फाइनल ईयर का छात्र था। परीक्षा होने के बाद वह रिजल्ट का इंतजार कर रहा था।

बड़े भाई की भी मौत 11 अगस्त को हुई थी

सोभित पवार का बड़ा भाई रोहित भी इंजीनियर था। वह अपने किसी दोस्त से मिलने के लिए शाहपुरा गया था। जहां 9 अगस्त 2010 को उसकी बाइक को एक इंडिका कार ने टक्कर मार दी थी। उसे नाजुक हालत में एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। 11 अगस्त को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

जिस बाइक का एक्सीडेंट, वह उसके भाई के लिए खरीदी थी

चाचा नवीन पवार ने बताया कि सोभित का जिस बाइक से एक्सीडेंट हुआ। उसे 2009 में बड़े भैया पीसी पवार ने अपने बड़े बेटे रोहित पवार के लिए खरीदी थी। बाइक पीसी पवार के नाम पर थी, जबकि 2010 में रोहित पवार जिस बाइक पर सवार था, वह उसके छोटे भाई सोभित की थी। यह भी एक इत्तेफाक ही है।

पुलिस : अज्ञात वाहन ने पीछे से मारी टक्कर

चूनाभट्टी के एएसआई बाबूलाल के अनुसार गुरुवार रात पौने ग्यारह बजे पत्रकार कॉलोनी के पास देशी कलारी के सामने एक अज्ञात वाहन ने पीछे से सोभित पवार की बाइक को टक्कर मार दी। सिर पर चोट लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बाइक के नंबर के आधार पर सोभित के परिजनों को सूचना दी गई।

चश्मदीद बोला- पुलिस से बचने युवक ने बदला रास्ता, सामने से टक्कर मारी

नवदुनिया को घटना चश्मदीद मिला है। जिसने सोभित पवार को पुलिस चैकिंग से बचने के लिए दूसरे रास्ते से जाते हुए देखा था। चश्मदीद विशाल कुमार ने बताया कि वह घटना के समय स्पॉट के पास दोस्तों के साथ खड़ा था। उसने बाइक सवार एक युवक को देखा कि वह पुलिस चैकिंग को देखकर आधे रास्ते से लौटकर दूसरे रास्ते पर चला गया था। तभी सामने से आया एक नीले रंग का वाहन युवक को टक्कर मारकर भाग गया। नवदुनिया विशाल कुमार के बयान की पुष्टि नहीं करता है, लेकिन मौके पर पहुंचकर उसने इस घटना के बारे में यह अहम जानकारी दी।

आखरी बार मां से की थी बात

मृतक के चाचा नवीन पवार ने बताया कि सोभित पवार की घर से निकलने के बाद आखिरी बार अपनी मां प्रभा पवार से बात हुई थी। उसने बोला था कि वह गुलमोहर में अपनी एक परिचित के घर पर है, थोड़ी ही देर में आ जाएगा। उन्होंने उसे जल्दी आने के लिए बोला था। पूर्व घटनाओं के बाद से वह सोभित का काफी ध्यान रखती थी। थोड़ी देर वह तो आया नहीं उसके हादसे की खबर आ गई थी।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.