International Organ Donation Day: जिंदा हैं 'दिल की धड़कन' बनकरUpdated: Sun, 13 Aug 2017 09:49 AM (IST)

इस दुनिया में न होकर भी किसी की आंखों की रोशनी तो किसी के दिल की धड़कन बनकर जिंदा रह सकते हैं।

भोपाल। अंगदान से हम कई अंधेरे जीवन को रोशन कर सकते हैं। इस दुनिया में न होकर भी किसी की आंखों की रोशनी तो किसी के दिल की धड़कन बनकर जिंदा रह सकते हैं। हालांकि जागरूकता की कमी और सामाजिक भ्रांतियों की वजह से अंगदान को बढ़ावा नहीं मिल पा रहा है। इसके बावजूद शहर में कई नेकदिल परिवार हैं, जिन्होंने अपने अजीज के अंगों का दान कर उसे कई लोगों की जिंदगी का हिस्सा बना दिया। आज इंटरनेशनल ऑर्गन डोनेशन डे पर शहर में अब तक हुए अंगदान के कुछ केस नवदुनिया के साथ शेयर कर रहे हैं अंगदान प्रचारक डॉ. राकेश भार्गव।

यहां करें संपर्क

अंगदान प्रचारक डॉक्टर राकेश भार्गव के मुताबिक भोपाल में अंगदान के लिए सीआईआई यंग इंडियंस और भोपाल ऑर्गन डोनेशन सोसायटी बेहतर काम कर रही है। इसके अलावा हमीदिया हॉस्पिटल, जेके हॉस्पिटल और रेडक्रॉस हॉस्पिटल में भी संपर्क किया जा सकता है।

हेल्पलाइन नंबर

9826017999, 9713111007

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.