मैं रहूं न रहूं, ऐसी व्यवस्था करके जाऊंगा कि बेटियों की पढ़ाई न रुके: शिवराजUpdated: Thu, 12 Oct 2017 05:58 PM (IST)

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने ड्रीम प्रोजेक्ट लाड़ली लक्ष्मी योजना के 11 साल पूरे होने पर जज्बाती हो गए।

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने ड्रीम प्रोजेक्ट लाड़ली लक्ष्मी योजना के 11 साल पूरे होने पर जज्बाती हो गए। बोले - मैं रहूं या न रहूं, ऐसी व्यवस्था करके जाऊंगा कि बेटियों की पढ़ाई नहीं रुकेगी, इसके लिए कानून बनाकर जाऊंगा। नियमित स्वास्थ्य परीक्षण की व्यवस्था और पुलिस की भर्ती में लड़कियों के लिए ऊंचाई 158 सेमी से कम की जाएगी। सीएम शिवराज ने बेटियों को ईश्वर का सबसे बड़ा उपहार बताया।

मुख्यमंत्री निवास में आयोजित लाड़ली शिक्षा पर्व कार्यक्रम में छठवीं कक्षा की हजारों लड़कियां पहुंची थीं। मुख्यमंत्री ने कुछ बच्चियों को प्रतीक स्वरूप छात्रवृत्ति भी बांटी, प्रदेश में गुरुवार को एक साथ 65 हजार लाड़ली लक्ष्मी बेटियों को छात्रवृत्ति वितरित की गई।

मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि आज मप्र में 26 लाख 30 हजार लाड़ली लक्ष्मी हो गई हैं। इनके 21 वर्ष के होने पर उनके परिवारों को 31 हजार करोड़ रुपए मिलेंगे। कार्यक्रम में महिला बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनिस ने बताया कि छठवीं कक्षा में पहुंची हर लाड़ली लक्ष्मी को दो-दो हजार रुपए छात्रवृत्ति दी जा रही है। कक्षा नौवीं में 4 हजार व 11 वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर 6 हजार रुपए दिए जाएंगे।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.