Live Score

मैच रद मैच समाप्‍त : मैच रद

Refresh

सरकार का रोचक आदेश, पहले लोन चुकाओ फिर मिलेंगे लाइसेंसी हथियारUpdated: Thu, 20 Apr 2017 03:53 AM (IST)

अटेर उपचुनाव के दौरान थानों में जमा कराए गए लाइसेंसी हथियार बकाया राशि जमा कराने के बाद ही वापस मिलेंगे।

भिंड। अटेर उपचुनाव के दौरान थानों में जमा कराए गए लाइसेंसी हथियार बकाया राशि जमा कराने के बाद ही वापस मिलेंगे। यानी थानों से हथियार वापस चाहिए तो आपको नोड्यूज प्रमाणपत्र देना होगा। जिला प्रशासन और पुलिस ने तैयारी कर ली है। अब ऐसे लोगों को बिना कर्ज चुकाए थानों से हथियार वापस नहीं मिलेंगे, जिन पर बिजली कंपनी, नपा का संपत्तिकर, जलकर और सहकारी या किसी भी बैंक का बकाया है। कलेक्टर इलैया राजा टी ने बुधवार को इस संबंध में एसपी अनिल सिंह से बैठक की है। जल्द ही प्रशासन की ओर से इस संबंध में आदेश जारी होंगे।

20 हजार हथियार थानों में जमा

अटेर उपचुनाव के दौरान जिलेभर के थानों में करीब 20 हजार से ज्यादा लाइसेंसी बंदूक, पिस्टल और रिवॉल्वर जमा हैं। अटेर उपचुनाव की आचार संहिता 15 अप्रैल को हट चुकी है। अब थानों में जमा हथियारों को वापस करने के लिए तारीख तय की जाना है, लेकिन इस बार प्रशासन ऐसे लोगों को लाइसेंसी हथियार लौटाने के मूड में नहीं है, जो पिछले कई साल से बिजली कंपनी, सहकारी अथवा नेशनल बैंक का बकाया और नगर पालिका या नगर परिषद का जलकर, संपत्ति व समेकित कर जमा नहीं किया है। ऐसे लोगों को हथियार वापस नहीं किए जाएंगे।

सहकारी बैंकों का 1900 लोगों पर बकाया

प्रशासन के पास जिला सहकारी बैंक की ओर से ऐसे 1900 से ज्यादा लोगों की सूची भेजी गई है, जिनके पास लाइसेंसी हथियार हैं। इन लोगों पर जिला सहकारी बैंक की सहयोगी बैंकों का 13 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का बकाया है। कलेक्टर इलैया राजा टी ने नेशनल बैंकों, बिजली कंपनी और नगर पालिका से भी बकायादारों की जानकारी मांगी है।

हथियार के शौक के लिए जमा करेंगे बकाया

दरअसल जिले के लोगों में लाइसेंसी हथियारों को लेकर अलग ही क्रेज है। हथियारों के शौक के कारण पूर्व के वर्षों में भी लाइसेंसीधारियों ने बकाया जमा कराए हैं। ऐसे में प्रशासन का मानना है कि इस बहाने से वर्षों से अटकी बकाया राशि जमा हो जाएगी।

थानों में जमा हथियारों को वापस करने के लिए अभी तारीख तय नहीं की है। हम बकायादारों की जानकारी मंगवा रहे हैं। बिजली कंपनी, बैंक और नगर पालिका का बकाया जमा करने पर ही थानों में जमा हथियार वापस किए जाएंगे।

इलैया राजा टी, कलेक्टर, भिंड

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.