विधायक माखन हत्याकांड में कोर्ट ने MP के मंत्री लालसिंह आर्य को आरोपी बनायाUpdated: Fri, 19 May 2017 03:05 PM (IST)

मंत्री लालसिंह आर्य को आरोपी बनाते हुए उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया।

भिंड। गोहद से कांग्रेस विधायक माखन जाटव हत्याकांड में विशेष न्यायालय भिंड ने प्रदेश सरकार में सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री लालसिंह आर्य को आरोपी बनाते हुए उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया। विशेष न्यायालय के न्याधीश योगेश कुमार गुप्ता ने शुक्रवार दोपहर 2 बजे फैसला दिया।

फैसला आने के बाद मंत्री आर्य के वकील अवधेश सिंह कुशवाह ने कोर्ट में आवेदन किया, जिसे स्वीकार करते हुए कोर्ट ने वारंट पर 3 जून तक के लिए स्थगन दे दिया। स्थगन से फिलहाल मंत्री आर्य को राहत मिल गई है। फरियादी पक्ष के वकील रामप्रताप सिंह कुशवाह ने सवाल खड़े करते हुए कहा स्थगन देते समय कोर्ट ने उनका पक्ष नहीं सुना है।

2009 में हुई थी कांग्रेस विधायक की हत्या

13 अप्रैल 2009 को गोहद के छरेंटा गांव में रात करीब 8:15 बजे कांग्रेस विधायक माखन जाटव की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। विधायक हत्याकांड में पुलिस ने सुरक्षा गार्ड शिवराज सिंह की रिपोर्ट पर आरोपी नारायण शर्मा, शेरा उर्फ शेर सिंह, पप्पू उर्फ मेवाराम, सेठी कौरव, गंधर्व सिंह, केदार सिंह, तेजनारायण शर्मा (मृत्यु हो चुकी), रामरूप सिंह गुर्जर को आरोपी बनाया था। फरियादी पक्ष की ओर से वकील रामप्रताप सिंह कुशवाह ने कोर्ट में धारा 91, 311 और 319 के तहत आवेदन कर मंत्री लाल सिंह आर्य को हत्याकांड में आरोपी बनाने के लिए अपना पक्ष रहा था।

विशेष न्यायाधीश योगेश कुमार गुप्ता के कोर्ट में गुरुवार को फरियादी और आरोपी पक्ष के वकलों की बहस हुई। बहस सुनने के बाद जज ने शुक्रवार को फैसला सुनाने के लिए कहा था। शुक्रवार दोपहर 2 बजे के करीब विशेष न्यायाधीश श्री गुप्ता का फैसला आ गया, जिसमें उन्होंने राज्यमंत्री लाल सिंह आर्य को हत्याकांड में आरोपी बनाते हुए उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने के आदेश दिए और केस में अगली सुनवाई के लिए 16 जून की तारीख तय की। इस आदेश के करीब 2 घंटे बाद मंत्री श्री आर्य के वकील अवधेश सिंह कुशवाह के आवेदन पर कोर्ट ने मंत्री आर्य के खिलाफ दिए वारंट पर 3 जून तक के लिए स्थगन आदेश दे दिया।

आर्य इस्तीफा नहीं देंगे : नंदकुमार

आर्य के इस्तीफे की मांग जोर पकड़ने पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने शुक्रवार शाम को इस मामले में सफाई दी। चौहान ने कहा कि लाल सिंह आर्य का हत्याकांड से कोई लेना देना नहीं है, इसलिए वे मंत्री पद से इस्तीफा नहीं देंगे। पुलिस ने आर्य को क्लीन चिट दे दी है, इसलिए हम हाईकोर्ट जाएंगे। हमें न्यायालय पर पूरा भरोसा है।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.