चलते-चलते ठोकर खाकर गिरा, ध्यान से देखा तो मासूम की लाश दबी थीUpdated: Sat, 09 Sep 2017 12:38 AM (IST)

मप्र के भिंड जिले में भी गुरुग्राम के समान ही छात्र के साथ दुराचार के बाद हत्या का मामला सामने आया।

भिंड। पांडरी गांव में छठवीं के छात्र की हत्या की गुत्थी ऊमरी पुलिस ने सुलझा ली। डीएसपी राकेश कुमार छारी ने बताया छात्र को गांव का ही आरोपी युवक अपने साथ ककोरे तोड़ने के बहाने बीहड़ में लेकर गया था। बीहड़ में आरोपी ने छात्र के साथ कुकृत्य किया।

छात्र ने घर पर शिकायत करने की बात कही तो आरोपी ने छात्र के पेंट से बेल्ट खींचा और बेल्ट से गला घोंटकर हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपी ने शव को मिट्टी से ढंक दिया था। पुलिस को वारदात के तीसरे दिन शव मिला था, जिससे साफ हुआ था कि छात्र से कुकृत्य हुआ था।

ऊमरी थाना क्षेत्र के पांडरी गांव में छठवीं का छात्र अंकुश 12 पुत्र अभिलाख बरैठा 30 अगस्त को घर से खेलने के लिए निकला था और उसके बाद घर नहीं लौटा था। परिजन की रिपोर्ट पर पुलिस ने 31 अगस्त की सुबह अपहरण का केस दर्ज किया था।

1 अगस्त को सुबह पांडरी गांव निवासी सुमेर जाटव बीहड़ में महावीर की नरिया से निकले तो वे किसी चीज से टकराकर नीचे गिरे। नीचे गिरने पर उन्होंने देखा कि वे जिस चीज से टकराए हैं वह किसी का घुटना है।

सुमेर जाटव ने गांव में जाकर यह बात बताई। गांव के लोगों से पुलिस को सूचना मिली। पुलिस ने मौके पर जाकर देखा तो मिट्टी से ढंककर अंकुश के शव को दफनाया गया था। पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेजकर पड़ताल शुरू की।

आरोपी के साथ देखा गया था मृतक आखिरी बार

डीएसपी राकेश छारी का कहना है कि पुलिस टीम ने पड़ताल शुरू की तो सामने आया कि पांडरी गांव निवासी हरिओम राजावत के साथ अंकुश को 30 अगस्त की शाम को आखिरी बार देखा गया था।

पुलिस ने हरिओम से सख्ती से पूछताछ की तो आरोपी ने बताया कि वह अंकुश को ककोरे तोड़ने के बहाने लेकर गया था और बीहड़ में ले जाकर कु कृत्या किया। अंकुश ने घर शिकायत कहने की बात कही तो आरोपी ने अंकुश के पेंट से बेल्ट खींचकर गला घोंटकर हत्या कर दी और शव को मिट्टी से ढांककर घर आ गया था।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.