अहमदाबाद में बोले मोदी- सिब्बल ने क्यों की सुनवाई टालने की मांगUpdated: Wed, 06 Dec 2017 12:36 PM (IST)

गुजरात चुनाव में धुआंधार प्रचार में लगे पीएम मोदी ने बुधवार को अहमदाबाद के धंधुका में चुनावी रैली को संबोधित किया।

अहमदाबाद। गुजरात चुनाव में धुआंधार प्रचार में लगे पीएम मोदी ने बुधवार को अहमदाबाद के धंधुका में चुनावी रैली को संबोधित किया। इस दौरान पीएम ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर तीखे हमले बोले। पीएम ने किसी मुद्दे का जिक्र किए बगैर इशारों में कपिल सिब्बल द्वारा राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट में की गई मांग और तीन तलाक के मुद्दे पर कहा कि मैं चुनाव के हिसाब से फैसले नहीं लेता।

पीएम ने कहा कि मुझे इस बात पर कोई आपत्ति नहीं है कि कपिल सिब्बल मुस्लिम समाज की तरफ से लड़ रहे हैं, लेकिन वो कैसे कह सकते हैं कि अगले चुनाव तक इसका समाधान ना निकले। राम मंदिर का मुद्दा लोकसभा चुनाव से कैसे संबंधित है?

पीएम ने कहा कि जब तीन तलाक का मुद्दा कोर्ट में था तो केंद्र को अदालत में अपना एफिडेविट देना था।उस समय अखबारों ने लिखा था कि यूपी चुनाव के चलते मोदी सरकार चुप रहेगी, लोगों ने भी मुझे राय दी कि मैं चुप रहूं नहीं तो हार जाएंगे। लेकिन मैंने साफ कर दिया कि मैं तीन तलाक पर चुप नहीं रहूंगा। मेरे लिए चुनाव से जरूरी देश और मानव अधिकार हैं।

इससे पहले पीएम ने राहुल गांधी के मंदिर दर्शन को लेकर निशाना साधते हुए कहा कि मैंने इतने साल बैठकर माला नहीं जपी है, काम किया है। मंदिर-मंदिर दौड़ने से बिजली नहीं आई है।

वहीं मोदी ने कहा कि एक परिवार ने डॉक्‍टर बाबासाहेब अंबेडकर और सरदार पटेल के साथ सबसे बड़ा अन्याय किया। जब कांग्रेस पर पंडित नेहरु का प्रभाव पूर्ण हो गया, तब कांग्रेस ने सुनिश्चित किया कि डॉ अम्बेडकर को संविधान सभा में शामिल होना कठिन हो जाए।

पीएम मोदी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने गुजरातियों को कई समस्‍याओं से निजात दिलाई है। उन्‍होंने कहा, 'भाजपा ने गुजरात में टैंकर राज का अंत किया। गुजरात में टैंकर का धंधा कांग्रेस नेताओं और उनके परिजनों द्वारा चलाया जा रहा था। लेकिन भाजपा के सत्‍ता में आने के बाद टैंकर राज खत्‍म हो गया।'

उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस के समय गुजरात में महिलाओं की शिक्षा पर कोई खास जोर नहीं दिया जाता था। हमने शिक्षा के क्षेत्र में काफी काम किया। मैंने गुजरात के लोगों से लड़कियों की पढ़ाई के लिए भीख मांगी। लोगों से हाथ जोड़कर कहा कि बेटियों को भी पढ़ने का मौका दो। 'बे‍टी बचाओ, बेट पढ़ाओ' अभियान शुरू किया।'

गुजरात में 9 और 14 दिसंबर को विधानसभा चुनाव होने हैं, जिनका परिणाम 18 दिसंबर को आएगा। चक्रवाती तूफान ओखी के कारण मंगलवार को कांग्रेस उपाध्‍यक्ष की रैलियां रद हो गई थीं।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.