'मुझे ऑटोग्राफ लेने वाला नहीं बल्कि देने वाला बनना है'Updated: Mon, 20 Mar 2017 01:45 PM (IST)

एक्टर सुनील ग्रोवर के फोटोग्राफर दोस्त विक्रम सिंह ने फेसबुक पर लिखी दिल को छू लेने वाली यह बात...

हिमांशु दुबे। कपिल शर्मा के शो में पहले गुत्थी और अब डॉ. मशहूर गुलाटी के रूप में चर्चित सुनील के लिए उनके पुराने दोस्त ने फेसबुक पर ऐसा कुछ लिखा है, जो दिल को छू लेने वाला है। इसे पढ़ने के बाद निश्चित रूप से सुनील ग्रोवर वह सब भूल जाएंगे, जिसकी वजह से इन दिनों कपिल के साथ सुर्खियों में हैं... आप खुद पढ़ लीजिए।

चंडीगढ़ में रहने वाले फोटोग्राफर विक्रम सिंह और एक्टर सुनील ग्रोवर पुराने दोस्त हैं। विक्रम ने सुनील के साथ पुरानी यादें ताजा करते हुए फेसबुक पर एक तस्वीर पोस्ट की है। विक्रम ने फेसबुक पर लिखा, 'बहुत दिनों बाद मिला कलाकार यार। सुकून मिला यह देखकर कि भाई ने अपने दम पर कमाल कर दिया है। चंडीगढ़ में कई साल पहले मंगल ढिल्लन का प्ले देखकर रॉक गार्डन से निकलते हुए तुमने कहा था, 'हमें ऑटोग्राफ लेने वाला नहीं देने वाला बनना है' कल रात तुम्हारे साथ सेल्फी लेती हुई भीड़ को दूर से देखकर मैं तुम्हारी वहीं पुरानी बात याद कर रहा था।'

विक्रम ने आगे लिखा है, 'तुम्हारे चेहरे पर सुकून था। साफ नजर आया। सपने सच होते हैं। दोबारा दिखा। अच्छा लगा। दिल से। ये मेहनत की जीत है। ये तुम्हारी जीत है सुनील।'

पोस्ट पर कुछ और लोगों ने भी कमेंट किया है। चंडीगढ़ की खेल पत्रकार जसविंदर कौर ने लिखा, 'तुम दोनों को साथ देखकर बहुत अच्छा लगा। दोनों ही बेहतरीन कॉमेडियन्स हैं। डॉ मशहूर गुलाटी कैमरे के सामने अपना टैलेंट दिखाते हैं तो मेरा विक्कू कैमरे के पीछे अपना जौहर दिखाता है।'

विपिन ने लिखा, 'मुझे होस्टल नंबर 2 की याद आ गई। अक्सर सुनील से मुलाकात होती रहती थी। ईश्वर उन्हें बरकत दे।'

परविंदर कौर ने लिखा, 'विक्रम मुझे तो उसका वो बेबे वाला सीन याद है। जब वो हमारे ग्रुप में बैठा था। हमने इससे कहा कि कुछ करके दिखाओ। इसने कहा कि चुन्नी लाओ कोई दिखाता हूं...और इसने नीरू या हरजीत की चुन्नी लेकर बुड्ढी बेबे की जो लाजवाब एक्टिंग की थी वो अभी तक याद है। बड़ा कॉेमेडियन है। ईश्वर उसे और ज्यादा सफलता दें।'

इस पूरे वाकये से एक बात तो साबित हो गई, सुनील ग्रोवर ने भी एंटरटेनमेंट वर्ल्ड में अपनी एक पहचान बना ली है। सरल शब्दों में कहा जाए तो दिल से लिखी गई विक्रम की यह पोस्ट दो दोस्तों के बीच की बात है लेकिन इससे पता चलता है कि सुनील ने जो सपना संजोया, वह पूरा हुआ। अब वे ऑटोग्राफ लेने वाले नहीं देने वाले बन गए हैं।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.