संजय दत्त ने वाराणसी में पूरी की पिता की 'आखिरी इच्छा'Updated: Wed, 13 Sep 2017 09:40 PM (IST)

फिल्म अभिनेता संजय दत्त ने बुधवार को रानीघाट पर अपने पिता सुनील दत्त व माता नरगिस दत्त सहित पितरों का पिंडदान किया।

वाराणसी। तेज बारिश के बीच फिल्म अभिनेता संजय दत्त ने बुधवार को रानीघाट पर अपने पिता सुनील दत्त व माता नरगिस दत्त सहित पितरों का पिंडदान किया। इस दौरान उन्होंने क हा कि पिता सुनील दत्त की यह इच्छा थी कि जिस दिन तुम आजाद होना पिंडदान जरूर करना।

फिल्म 'भूमि' के प्रमोशन के लिए बनारस आना था, तब मैंने तय किया कि यह आवश्यक काम जरूर पूरा करूंगा। संजय की फिल्म 'भूमि' जो 22 सितंबर को रिलीज हो रही है उसके प्रमोशन के लिए वह वाराणसी आए थे।

फिल्म में संजय के खास दोस्त का किरदार निभा रहे शेखर सुमन, पाखी हेंगड़े एक दिन पहले ही वाराणसी आ गए थे। इस दौरान प्रशंसकों ने संजय के साथ सेल्फी लेने की भी कोशिश की।

नहीं जा सके बाबा दरबार

संजय दत्त देर से घाट पहुंचे थे, ऐसे में काशी विश्र्वनाथ मंदिर व काल भैरव मंदिर जाने का कार्यक्रम रद करना पड़ा। इस दौरान संजय के पीछे पूजा में 'भूमि' फिल्म की अभिनेत्री अदिति राव हैदरी भी बैठी थीं।

संजय ने 'पारवण श्राद्ध' किया जिसमें छह पिंडदान हुआ। इसमें माता पिता सहित पितरों का श्राद्ध हुआ। श्राद्ध के बाद संजय ने आठ ब्राह्माणों के शंखनाथ के बीच मां गंगा की आरती की और 21 लीटर दूध से दुग्धाभिषेक किया। हालांकि पहले 125 लीटर दूध से गंगा का अभिषेक होना था।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.