Exclusive : 'बाहुबली' करने में हिचक रहे थे मनोज, राजामौली के समझाने पर मानेUpdated: Wed, 17 May 2017 02:08 PM (IST)

मनोज मुंतशिर इन दिनों मजा ले रहे हैं अपनी ताजा रिलीज 'बाहुबली 2' की सफलता का।

शायर, पटकथाकर, डायलाॅग राइटर और होस्ट मनोज मुंतशिर इन दिनों मजा ले रहे हैं अपनी ताजा रिलीज 'बाहुबली 2' की सफलता का। एसएस राजामौली की इस फिल्म के हिंदी संस्करण में मनोज ने डायलाॅग लिखे हैं और गाने के बोल भी उन्हीं के हैं। वैसे मनोज को असली पहचान 'द विलेन' के गाने 'तेरी गलियां' से मिली थी। इसके बाद तो उन्होंने 'वजह तुम हो', 'बेपरवाह', 'करम खुदाया है' जैसे बड़े हिट गाने दिए।

'बाहुबली' साइन करने के किस्से को याद करते हुए मनोज बताते हैं 'एमएम करीम के साथ उन दिनों में काम कर रहा था। स्टूडियो में ही उन्हें कुछ सुनाने की तैयारी कर रहा था। तभी एक शख्स आते हैं और एमएम से हाथ मिलाकर पीछे बैठ जाते हैं। मैं अपना पूरा काम करता हूं और वहां से निकल जाता हूं। कुछ दिनों के बाद एमएम का काॅल मेरे पास आता है और वे कहते हैं एसएस राजामौली तुम्हारे साथ काम करना चाहते हैं। मैं उनसे पूछता हूं कि राजामौसी मुझे कैसे जानते हैं! तो वे बताते हैं कि हमारी मुलाकात के दौरान आने वाले शख्स वे ही थे। मैं राजामौली के साथ मिलने के लिए तैयार हो जाता हूं लेकिन मन में कोई डब्ड मूवी करने की जरा भी इच्छा नहीं थी। यही बात मैं राजामौली को बताता हूं कि हिंदी इलाकों में डब्ड तेलुगु फिल्मों का बुरा हाल होता है और मैं अपने नाम के साथ एेसी शुरूआत नहीं चाहता। तब राजामौली मुझे बेहद सब्र से समझाते हैं कि एेसा कुछ नहीं होने वाला और तुम इस फिल्म को अपने अंदाज में करो। भूल जाओ कि ये तर्जनुमा है और इसे अलग तरह से लिखो। राजामौली के अंदाज से मैं खासा प्रभावित हुआ और फिर ये फिल्म की।'

'बाहुबली' के दोनों भाग के हिंदी गाने और डायलाॅग मनोज ने ही लिखे। अभी उनका लिखा 'हाफ गर्लफ्रेंड' का गाना 'मैं फिर भी तुमको चाहूंगा' भी म्यूजिक चार्ट में टाॅप पर है।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.