जेएनयू में हिन्दू देवी के खिलाफ आपत्तिजनक सामग्री वितरितUpdated: Thu, 09 Oct 2014 11:40 PM (IST)

नईदुनिया ब्यूरो, नई दिल्ली जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हिन्दू देवी के खिलाफ आपत्तिजनक स

-विद्यार्थियों की शिकायत पर पुलिस ने शुरू की कार्रवाई

नईदुनिया ब्यूरो, नई दिल्ली

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हिन्दू देवी के खिलाफ आपत्तिजनक सामग्री के वितरण को लेकर बुधवार रात से गुヒवार रात तक जमकर हंगामा हुआ। इस सामग्री को प्रकाशित करने वाले प्रकाशन समूह और कैम्पस में इस सामग्री का वितरण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर विश्वविद्यालय के ही दो छात्रों ने कुलपति व पुलिस प्रशासन से शिकायत की है। विश्वविद्यालय कुलपति प्रो.एसके सोपोरी ने कैम्पस में आपत्तिजनक सामग्री के वितरण पर हैरानी जताई है, जबकि दिल्ली पुलिस ने इस मामले में प्रकाशन समूह के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है।

पुलिस में शिकायत करने वाले जेएनयू छात्र अम्बाशंकर वाजपेयी व रविन्द्र सिंह ने बताया कि ये सामग्री कैम्पस में विद्यार्थियों के बीच बुधवार दोपहर से ही वितरित की जा रही थी और उन्हें शाम सात बजे ये प्राप्त हुई तो उन्होंने इसमें सचित्र हिन्दू देवी के खिलाफ दी गई आपत्तिजनक सामग्री को लेकर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुचाने वाला पाया। सामग्री को देखने के बाद हमने तुरंत महिषासुर के शहादत दिवस को लेकर कावेरी हॉस्टल में गुヒवार रात होने वाले आयोजन के संबंध में हॉस्टल वॉर्डन से सम्पर्क किया, लेकिन वे नहीं मिले। इसके बाद कुलपति और फिर मुख्य सुरक्षा अधिकारी के आवास का रुख किया, लेकिन किसी ने भी जब कार्रवाई के लिए कोई कदम नहीं उठाया तो वे थाना वसंत कुंज (उत्तर) चले गए। आपत्तिजनक सामग्री थाना प्रभारी को दिखाई और उनके कार्रवाई की मांग की। इसके बाद देर रात उन्हें थाने से फोन आया और वहां उनकी शिकायत को स्वीकार कर दिल्ली पुलिस ने कार्रवाई शुरू की।

इसी कड़ी में कावेरी हॉस्टल में महिषासुर के शहादत दिवस के मौके पर ऑल इंडिया बैकवर्ड स्टूडेंट्स फोरम की ओर से आयोजित किए जा रहे कार्यक्रम के विषय में फोरम के अध्यक्ष व जेएनयू छात्र जितेन्द्र यादव का कहना है कि उनका किसी भी आपत्तिजनक सामग्री से कोई लेना देना नहीं है। जहां तक 'हिन्दू मान्यता और बहुजन संस्कृति' विषय पर आयोजित चर्चा के आयोजन की बात है तो प्रशासन ने इस संबंध में एक शपथपत्र मांगा था, जो हमने उन्हें दे दिया है। जितेन्द्र ने बताया कि इस शपथपत्र में प्रशासन ने आयोजन के दौरान आयोजकों से किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना की जिम्मेदारी लेने की बात कही है, जिसे लिखित में स्वीकार कर लिया गया है।

प्रकाशन समूह का पुलिस पर आरोप

इस सामग्री का प्रकाशन करने वाले प्रकाशन समूह के प्रमोद रंजन ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने न सिर्फ गुヒवार को उनके नेहरू प्लेस स्थित कार्यालय में तोड़फोड की बल्कि उनके चार कर्मचारियों को गिरफ्तार भी किया है। पुलिस ने प्रकाशन समूह के कार्यालय से करीब 2 हजार कापियां भी जब्त की है।

कुलपति बोले अनुचित सामग्री का वितरण स्वीकार नहीं

कैम्पस में हिन्दू देवी से संबंधित आपत्तिजनक सामग्री के वितरण पर कुलपति प्रो. एसके सोपोरी का कहना है कि उन्हें ये जानकर हैरानी है कि कैम्पस में ऐसी गतिविधि चल रही है। उन्होंने कहा कि हम अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का सम्मान करते हैं, लेकिन इसका यह मतलब कतई नहीं है कि इसके जरिए अन्य लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई जाए। कुलपति ने कहा कि इस प्रकरण की वे जांच कराएंगे और यदि कैम्पस के विद्यार्थियों की संलप्तिता पाई गई तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.