सराफा व्यापारी से 25 लाख की ठगी करने वाले आरोपी मुंबई से गिरफ्तारUpdated: Mon, 15 Jun 2015 10:14 PM (IST)

सदर बाजार के सराफा व्यापारी से 25 लाख की ठगी करने वाले 2 आरोपियों को रायपुर क्राइम ब्रांच ने मुंबई में गिरफ्तार कर लिया है। उनसे 18 लाख रुपए की बरामदगी हुई है। इन्हें 22 जून तक

रायपुर। सदर बाजार के सराफा व्यापारी से 25 लाख की ठगी करने वाले 2 आरोपियों को रायपुर क्राइम ब्रांच ने मुंबई में गिरफ्तार कर लिया है। उनसे 18 लाख रुपए की बरामदगी हुई है। इन्हें 22 जून तक पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है।

क्राइम ब्रांच प्रभारी संजय सिंह ने बताया कि आरोपी गोपाल सिंह राजपुरोहित और उसका साथी दुर्ग सिंह जालौद राजस्थान के रहने वाले हैं और बीते 3 साल में ठगी की 15-20 वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। बार-बालाओं पर पैसा उड़ाने का शौक रखने वाला गोपाल, लोगों को जाल में फंसाकर ठगी करने में माहिर है और वही तमाम वारदातों का मास्टर-माइंड है। शहर के सराफा व्यापारी सुमित मालू को भी गोपाल ने बातचीत में ही फांसा। गोपाल को जैन समाज की पत्रिका से सुमित मालू की दुकान जेके ज्वेलर्स का लैंड लाइन नंबर मिला था। फोन सुमित ने रिसीव किया। गोपाल ने सुमित को कुछ रिश्तेदारों के नाम बताए, जिससे सुमित को विश्वास हो गया कि वह परिचित व्यक्ति है। गोपाल ने सुमित को बताया कि उसे रायपुर में एक व्यापारी को 51 लाख रुपए देने थे, लेकिन वह नहीं है, इसलिए 51 लाख रुपए वह उसके पास रखवाना चाहता है। एक व्यक्ति कुछ ही देर में पैसा लेकर उस तक पहुंचेगा। गोपाल ने फोन काटा और तभी एक व्यक्ति का फोन आया कि वह 51 लाख रुपए लेकर पहुंच रहा है। कुछ ही देर में गोपाल ने दोबारा सुमित को फोन किया कि उसे मुंबई में 25 लाख की जरूरत है। सुमित गोपाल के झांसे में आ चुका था तो उसने अपने रिश्तेदार से मुंबई में गोपाल के साथी को 25 लाख रुपए दिलवा दिए। इस विश्वास पर कि गोपाल के 51 लाख रुपए उसके पास आ ही रहे हैं। ठगी का खुलासा तब हुआ, जब गोपाल के बताए अनुसार 51 लाख रुपए लेकर आने वाला व्यक्ति सुमित तक पहुंचा ही नहीं।

2 चरणों में चला पुलिस का अभियान-

क्राइम ब्रांच प्रभारी का कहना है कि पुलिस ने लैंड लाइन पर आए फोन कॉल को ट्रेस किया तो पता राजस्थान जालौर का मिला, जहां टीम पहुंची और वहीं से गोपाल और दुर्ग सिंह के बारे में जानकारी मिली। फेसबुक आईडी से गोपाल का फोटो, फोन नंबर ट्रेस करते-करते क्राइम ब्रांच को मुंबई के समुंदर बार में गोपाल के नियमित आने की सूचना मिली। 6 सदस्यीय टीम मुंबई रवाना हुई। समुंदर बार पहुंची टीम ने गोपाल को बार बालाओं पर पैसा लुटाते हुए देखा, निगरानी रखी और जैसे ही गोपाल बाहर निकला, उसे गिरफ्तार कर लिया गया। गोपाल के घर से 18 लाख की बरामदगी की गई और उसके साथ दुर्ग की गिरफ्तारी भी। बताया जा रहा है कि उसने 6 लाख रुपए अपने क्लब, बार के शौक में उड़ा दिए हैं।

चौथी पास है मास्टर माइंड-

गोपाल ने पूछताछ में बताया कि वह और उसका साथी दुर्ग भी चौथी तक ही पढ़े हैं। कुछ साल पहले वह बेंगलुरू में एक ट्रेडिंग कंपनी में काम कर चुका था। वहीं से उसे ठगी करने का आइडिया मिला। गोपाल ने मुंबई के कारोबारियों को ही अपना शिकार बनाया है। रायपुर में उसकी यह पहली वारदात है।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.