रंगमंच की दुनिया ने बढ़ाया आत्मविश्वासः सचिन खेडेकरUpdated: Sat, 16 Apr 2016 04:01 AM (IST)

हिन्दी फिल्मों के जाने-माने चरित्र अभिनेता और मराठी रंगमंच के कलाकार सचिन खेडेकर शुक्रवार को फिल्म फेस्टिवल में भाग लेने के लिए राजधानी पहुंचे। सचिन ने पत्रकारों से बातचीत

रायपुर। हिन्दी फिल्मों के जाने-माने चरित्र अभिनेता और मराठी रंगमंच के कलाकार सचिन खेडेकर शुक्रवार को फिल्म फेस्टिवल में भाग लेने के लिए राजधानी पहुंचे। सचिन ने पत्रकारों से बातचीत में अपने फिल्मी कॅरियर और रंगमंच से जुड़ी बातें शेयर की। सचिन ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस, सिंघम, गुरू, तेरे नाम, बादशाह, जिद्दी, काकस्पर्श (मराठी), मी शिवाजी राजे भोसले बोलतोय (मराठी) जैसी फिल्मों में अभिनय किया है।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस में नेताजी का रोल अदा करने वाले सचिन ने बताया कि उन्हें यह फिल्म कैसे मिली। सचिन के अनुसार 2003 की बात है मुझे इंडस्ट्री के एक कैमरामैन राजेश कुरैशी ने इस फिल्म के बारे बताया। श्याम बेनेगल इसके निर्देशक है। सो मैंने फोटोग्राफर जगदीश माली से सुभाष चंद्र बोस के गेटअप में एक फोटो शूट कराया और श्याम बेनेगल को भेजा। इसके बाद मेरा सेलेक्शन हो गया। इस फिल्म के स्क्रिप्ट में 180 दृश्य थे जो की 2 साल की मेहनत के बाद पूरे हुए। अपने पढ़ाई के दिनों की याद ताजा करते हुए खेडेकर ने कहा कि स्कूल और कॉलेज के दिनों में वे बहुत संकोची स्वाभाव के थे। लेकिन रंगमंच की दुनिया में आते ही उनका आत्मविश्वास बढ़ा गया। सचिन के अनुसार उन्होंने हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती और मराठी में थिएटर किए है।

इस कार्यक्रम में फिल्म सेलेक्शन एंड प्रोग्रामिंग के डिप्टी डायरेक्टर रिजवान अहमद ने बताया कि भारत में सबसे बड़ा फिल्म फेस्टिवल गोवा फिल्म फेस्टिवल है। इसमें फीचर और नॉन फीचर दोनों ही फिल्मों का प्रदर्शन किया जाता है। इस आयोजन में भारतीय फिल्म मेकर अपने फिल्मों के साथ पहुंचते है। यह एक ऐसा प्लेटफार्म है जिसमें सिनेमा के मौजूद फिल्मकार अपनी फिल्म से जुड़ी बातों को शेयर कर पाते हैं। सिनेमा प्रेमियों के लिए यह एक अलग अनुभव होता है। 1950 में पहला फिल्म फेस्टिवल मुम्बई में आयोजित हुआ। जिसके बाद 1954 में पहली बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की शुरुवात हुई। फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोगों की हार्दिक इच्छा होती है कि उन्हें एक राष्ट्रीय पुरस्कार अवश्य मिले। राष्ट्रीय पुरस्कारों को तीन केटेगरी- फीचर फिल्म, शार्ट फिल्म और बेस्ट राइटिंग ऑफ सिनेमा में बांटा गया है।

आज मुक्ताकाश मंच में-

फिल्म- शाहरुख बोला खूबसूरत है तू

समय- शाम 7ः30 बजे

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.