6 घंटे में 6.50 लाख लोगों ने कराई शुगर जांच, बना वर्ल्ड रिकॉर्डUpdated: Wed, 15 Nov 2017 07:17 AM (IST)

निजी अस्पतालों को भी इस अभियान से जोड़ा गया, जिनके आंकड़े फिलहाल इस रिपोर्ट में नहीं जुड़े हैं।

रायपुर। विश्व मधुमेह दिवस 14 नवंबर को छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य विभाग ने एक ही दिन सबसे ज्यादा ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर जांच का वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम किया। सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक चले 6 घंटे के इस महाअभियान में सभी 27 जिलों में 6 लाख 68 हजार 204 लोगों ने जांच करवाई।

इस दौरान गोल्डन बुक ऑफ रिकॉर्ड की टीम मौजूद रही। इनके एशिया हेड मनीष विश्नोई ने रिकॉर्ड बनने की पुष्टि की है। इस पूरे आयोजन की वीडियोग्राफी, फोटोग्राफी भी करवाई गई है।

मंगलवार सुबह 9 बजे स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर और कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल खो-खो पारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) पहुंचे और अपना ब्लड सैंपल दिया। दोनों की जांच रिपोर्ट सामान्य पाई गई।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश को मधुमेह मुक्त बनाना है, इसलिए प्राथमिकता के साथ जांच करवाई जा रही है। स्वास्थ्य विभाग ने बाल मधुमेह योजना शुरू की ताकि टाइप-1 डायबिटिक बच्चों को निःशुल्क इंसुलिन मुहैया हो सके। बिलासपुर में सबसे ज्यादा 72032 लोगों ने जांच कराई। वहीं बस्तर जिला तय लक्ष्‌य से आगे निकल गया।

कहां कितने की जांच

बलोद- 7228, बलरामपुर- 6920, बेमेतरा- 5252, दंतेवाड़ा- 3013, धमतरी- 31673, दुर्ग - 32923, गरियाबंद- 31044, जांजगीर-21519, जशपुर- 40502, कवर्धा- 5114, कोंडागांव- 9381, कोरिया- 9577, महासमुंद- 34606, रायगढ़- 15660, रायपुर- 43156, सूरजपुर- 7420, सरगुजा- 35563, कांकेर- 26516, कोरबा- 51482, बिलासपुर- 72023, नारायणपुर- 2553, रायगढ़- 15444, राजनांदगांव- 51014, बीजापुर- 8511, बस्तर- 34094

सरकारी निजी सभी अस्पतालों में हुई जांच-

अभियान को सफल बनाने के लिए स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर, स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव सुब्रत साहू ने लगातार बैठकें लीं और निर्देश जारी किए थे। प्रदेश के सभी 4 हजार 51 स्वास्थ्य केंद्रों में आवश्यक जांच सामग्री पहुंचाई गई। स्टाफ की छुट्टियां रद्द कर दी गईं, सभी की तैनाती अनिवार्य कर दी गई। निजी अस्पतालों को भी इस अभियान से जोड़ा गया, जिनके आंकड़े फिलहाल इस रिपोर्ट में नहीं जुड़े हैं।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.