शादी के लिए कहा तो सिरफिरे आशिक ने गला दबा के गाड़ दिया थाUpdated: Thu, 10 Aug 2017 03:59 AM (IST)

पुलिस की मानें तो कौशल युवती को हमेशा आश्वासन देता था कि वह उसके साथ शादी करेगा। यही वजह रही कि युवती उसके चंगुल में फंस गई थी।

रायगढ़। करीबन माहभर पहले दफनाये गए युवती के शव को एसडीएम से अनुमति लेकर कब्र से बाहर निकाला गया है। प्रेम-प्रसंग में धोखा देने के बाद युवक ने उसका गला दबाया और उसे जंगल में दफना दिया था। मामले में परिजनों की पुलिस के पास शिकायत के बाद पुलिस ने तफ्तीश शुरु की।

पखवाड़े भर की पड़ताल के बाद पुलिस ने संदेही युवक को हिरासत में लिया और कड़ी पूछताछ करने के बाद उसने अपना अपराध कबूल कर लिया। इस मामले में आरोपी के खिलाफ धारा 302, 201, आईपीसी के तहत अपराध पंजीबद्घ किया गया है।

मामले के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार खरसिया थानाक्षेत्र के भालूनारा निवासी 18 वर्षीय युवती बसंती अगरिया पिछले माह की 13 जुलाई से घर से रहस्यमय ढंग से लापता हो गई थी । इस मामले में परिजनों ने उसकी काफी खोजबीन की, मगर उसका कहीं पता नहीं चला।

अंततः परिजन संबंधित पुलिस थाना में बसंती की गुमशुदगी दर्ज कराए । मामले की संवेदनशीलता देखते हुए पुलिस ने युवती की खोजबीन शुरु की । मगर उसका पता लगाना मुश्किल हो रहा था। ऐसे में कुछ दिन के भीतर पता चला कि युवती को आखिरी बार चोढ़ा निवासी आरोपी कौशल राठिया पिता बाबी राठिया उम्र 23 वर्ष के साथ देखा गया था।

ऐसे में पुलिस ने उसे हिरासत में लिया और उससे पूछताछ की गई। कड़ी पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म कबूलते हुए कहा कि युवती उसकी प्रेमिका थी। उनके बीच शारिरिक संबंध बन चुके थे। जिसके चलते युवती उसे शादी करने के लिए जिद करती थी। युवक ने पुलिस को दिए अपने बयान में कहा कि वो युवती से शादी नहीं करना चाहता था। जबकि युवती उसके पीछे पड़ गई थी।

यही वजह रही कि उससे पीछा छुड़ाने के लिए युवक ने स्वांग रचते हुए युवती को 13 जुलाई की रात्रि अपने पास बुलाया। बताया गया कि युवक भालूनारा के जंगल में स्थित मंदिर में युवती से शादी करने की बात कहकर उसे बुलाया था।

युवती के वहां पहुंचने के बाद उन दोनों के बीच लंबी बातचीत चली और कुछ देर में विवाद भी हुआ। इसके बाद आरोपी ने युवती का गला दबाकर उसे मौत के घाट उतार दिया। इस मामले की पोल खुलने के बाद क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है। बहरहाल मुख्य आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

एक साथ काम करते हुए बढ़ी थी नजदीकी

बताया जाता है कि आरोपी कौशल राठिया ट्रेक्टर चालक था। जबकि युवती बसंती अगरिया कभी-कभार ट्रेक्टर में काम करने के लिए जाया करती थी। इसी बीच एक साथ काम करते हुए बसंती और कौशल के बीच नजदीकियां बढ़ गई थी। पुलिस की मानें तो कौशल युवती को हमेशा आश्वासन देता था कि वह उसके साथ शादी करेगा। यही वजह रही कि युवती उसके चंगुल में फंस गई थी।

जयपुर में काम करने गए थे मां-बाप

जब बसंती अगरिया घर से गायब हुई तो उसके माता-पिता घर में नहीं थे। पुलिस ने बताया कि वे दोनों जयपुर में काम करने गए थे। घर में बसंती के अलावा उसके दो छोटे भाई बहन ही थे। वहीं जयपुर में रहते हुए उसके माता पिता को पुत्री के गायब होने की सूचना मिली तो वे तत्काल घर लौटे और बसंती की खोजबीन शुरु किए।

गर्भवती होने की आशंका

पुलिस का ये भी कहना है कि संभवतः युवती गर्भवती थी। दरअसल वह जब घर से निकली थी तो अपने छोटे भाई व बहन को ये कहकर निकली थी कि उसके पेट में दर्द हो रहा है। वहीं पुलिस अभिरक्षा में आरोपी कौशल ने भी इस बात को स्वीकार किया है कि युवती के मिलने के बाद वह उसे गोली देकर गर्भ गिराने का दबाव भी दे रहा था। युवती ने उसके इस बात से भी इनकार किया था।

- इस मामले में संबंधित युवक को हिरासत में लिया गया है। उसी के बताये अनुसार कब्र से युवती का शव बाहर निकाला गया। युवक ने अपना अपराध कबूल कर लिया है। - यूबीएस चौहान, एएसपी, रायगढ़

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.