गांव में अजनबी दिखे तो तत्काल पुलिस को दें जानकारीUpdated: Tue, 12 Sep 2017 07:04 PM (IST)

बगीचा विकासखंड के ग्राम बासेन, पंड्रापाठ एंव मनोरा विकासखंड के ग्राम चड़िया में पुलिस के द्वारा चलित थाने का आयोजन किया गया।

बगीचा/ जशपुर, रायगढ़ । बगीचा विकासखंड के ग्राम बासेन, पंड्रापाठ एंव मनोरा विकासखंड के ग्राम चड़िया में पुलिस के द्वारा चलित थाने का आयोजन किया गया। ग्रामीण क्षेत्रों में पुलिस और आम जनता के बीच संबंधों को बेहतर बनाने एवं अपराधों की रोकथाम के लिए चलित थाने का आयोजन एसपी जशपुर के मार्गदर्शन में किया जा रहा है। चलित थाने को लेकर ग्रामीणों में भी काफी उत्साह देखने को मिल रहा है।

पुलिस की टीम चलित थाने के माध्यम से गांव में पहुंच रही है और चौपाल के रूप में ग्रामीण पंचायत प्रतिनिधियों के साथ एक स्थान पर एकत्रित हो रहे हैं। इसी क्रम में मनोरा पुलिस चौकी प्रभारी हर्षवर्धन चौरासे के नेतृत्व में ग्राम चड़िया पहुंची और चलित थाने का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम में ग्रामीणों ने गांव की स्थिति से अवगत कराया और अपने विचार रखे। वहीं चौकी प्रभारी हर्षवर्धन ने ग्रामीणों के विभिन्न अपराधों के कारणों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में मोबाइल व इंटरनेट सेवाओं का प्रयोग बढ़ा है।

इसकी जानकारी लें और सुरक्षा अपनाते हुए प्रयोग करें। मोबाइल में अज्ञात लोगों के द्वारा फोन कर आपसे कोई गोपनीय जानकारी मांगी जाती है और पैसे कमाने का प्रलोभन दिया जाता है तो पुलिस से राय लें। किसी के झांसे में न आएं। साथ ही उन्होंने मानव तस्करी सहित अन्य अपराधों की जानकारी दी। बगीचा विकासखंड के ग्राम बासेन में बगीचा थाना प्रभारी लक्ष्मण ध्रुव नेतृत्व में चलित थाने का आयोजन किया गया।

ग्राम बासेन में बड़ी संख्या में ग्रामीण जुटे और अपराध नियंत्रण पर चर्चा हुई। थाना प्रभारी लक्ष्मण धु्रव ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि ग्राम में आने वाले अजनबी लोगों पर नजर रखें और हर संदिग्ध की सूचना कोटवार व पुलिस को दें।

उन्होंने कहा कि नाबालिग सहित बड़े भी यदि बाहर जाते हैं तो इसे सहजता से नहीं लें। बच्चों के लिए शिक्षा महत्वपूर्ण है और बच्चों को स्कूल भेजकर उच्च शिक्षा दिलाएं। इसी प्रकार ग्राम पंड्रापाठ में चलित थाने का आयोजन किया गया, जहां विधायक राजशरण भगत भी शामिल हुए। भगत ने आयोजन को सराहा और कहा कि इस आयोजन में भी ग्रामीण अपनी समस्या रख सकते हैं, जिसके निराकरण के लिए प्रयास किया जाएगा।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.