मौत ने पांच तरफ से घेरा था, फिर भी बच निकलाUpdated: Thu, 09 Nov 2017 07:00 PM (IST)

बाद में वन कर्मियों की सहायता से उसे अस्पताल में ईलाज के लिए भर्ती कराया गया। फिलहाल युवक की हालत बेहतर बताई गई हैं।

रायगढ़। कभी-कभी शॉर्टकट रास्ता अपनाना जीवन के लिए भारी पड़ सकता है। जैसा कि बागीचा जशपुर के 27 साल के युवक को उठाना पड़ा है। नजदीक के रास्ते से घर पहुंचने की जल्दबाजी में वह एक साथ पांच भालूओं के बीच घिर गया। भालूओं के हमले से बुरी तरह घायल युवक ने किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई। फिलहाल युवक को मेकाहारा में ईलाज के लिए भर्ती कराया गया है।

मामले में मिली जानकारी के अनुसार घटना चक्रधर नगर थाना क्षेत्र के जामगांव क्षेत्र से जुड़ा है। जहां तेंदपाल, बागीचा, जशपुर निवासी कुलेंन्दर यादव पिता रामविचार यादव कुछ माह से दूध बेचने का काम करता था। बीते बुधवार को वह घर के राशन खरीदी के लिए पास के गांव बलभद्रपुर गया हुआ था।

घायल युवक ने बताया कि वहां राशन सस्ता मिल जाता है। इसलिए गांव गया हुआ था। गांव से वह राशन खरीदकर जामगांव के जंगल से होकर वापस आ रहा था। इसी दौरान रास्ते में पांच भालूओं ने घेर लिया। इससे पहले कि वह बचकर भागने में सफल होता, तीन भालूओं ने हमला कर दिया।

इस दौरान पहली बार बचने के बाद दूसरी बार भी भालूओं ने हमला कर दिया। इस घटना में युवक के शरीर पर भालूओं के काटा गया। पैरों को बुरी तरह से जख्मी कर दिया।

बचाव के लिए युवक ने राशन के झोले को ही हथियार की तरह इस्तेमाल किया और भालूओं से पिछा छूडाकर किसी तरह से घायल अवस्था में वहां से भागने में सफल रहा। बाद में वन कर्मियों की सहायता से उसे अस्पताल में ईलाज के लिए भर्ती कराया गया। फिलहाल युवक की हालत बेहतर बताई गई हैं।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.