अब सेल्फी लेकर बताना होगा, 'सर मैं ड्यूटी पर हूं'Updated: Tue, 14 Nov 2017 01:38 PM (IST)

कर्मियों की हाजिरी पहले रजिस्टर पर लगाई जाती थी, बाद में बायोमेट्रिक हाजिरी प्रणाली शुरू हो गई।

कोरबा। सेल्फी तो दूर अब तक सोशल कैमरे की रेंज से खुद को बाहर रखने वाले अफसर-कर्मी अब रोज अपनी तस्वीरें लेते दिखाई देंगे। अपने कर्मचारियों को वक्त का पाबंद बनाने नगर निगम ने एक हाईटेक तरीका लागू किया है।

निगमकर्मियों को अब ड्यूटी पर होने का प्रमाण देते हुए सेल्फी लेकर हाजिरी दर्ज करानी होगी। यह ऐसी व्यवस्था है, जिसमें उन्हें अपनी सेल्फी लेकर उपस्थिति दर्ज करानी होगी, जिसके बगैर माह की सातवीं तारीख को उनका बैंक खाता खाली रह जाएगा।

कामकाज छोड़ नदारद रहने वाले अफसर-कर्मी मनमानी अब नहीं चल सकेगी, क्योंकि इस व्यवस्था की निगरानी सीधे रायपुर से की जा रही है। नगर निगम के कामकाज को धीरे-धीरे हाईटेक किया जा रहा है। कर्मियों की हाजिरी पहले रजिस्टर पर लगाई जाती थी, बाद में बायोमेट्रिक हाजिरी प्रणाली शुरू हो गई।

अब सेल्फी के माध्यम से हाजिरी लगाने की प्रक्रिया आरंभ हो गई है। हालांकि प्रारंभिक दौर पर कुछ कर्मी ही हाजिरी लगा रहे हैं, पर धीरे-धीरे इसकी संख्या बढ़ती जा रही है। सेल्फी लेने से झिझकने वाले निगमकर्मियों को भी अब युवाओं की तरह सेल्फी लेने की ट्रिक सीखनी पड़ रही।

पहले कार्यालय में ही उपस्थित होने पर हाजिरी की सुविधा दी गई थी। इससे फील्ड में कार्य करने वालों को दिक्कत हो रही थी। मोबाइल से सेल्फी माध्यम से हाजिरी लेने पर सहकर्मी या अपने अफसर के मोबाइल का उपयोग कर सकेंगे।

हालांकि इस प्रक्रिया में थोड़ी दिक्कत अवश्य होगी, पर सभी कर्मियों को हाजिरी लगाने की सुविधा मिल जाएगी। इसी तरह फील्ड में रहने वाले अफसर या कर्मचारी कार्यस्थल पर ही सेल्फी हाजिरी लगा सकेंगे। नगरीय निकाय विभाग ने इसकी छूट प्रदान की है।

कर्मी की स्माइल कैद कर मैच करेगी 'निष्ठा' ऐप

सेल्फी हाजिरी के लिए शासन ने मोबाइल में निष्ठा एप बनाया है। इस एप के माध्यम से कर्मी कार्यालय पहुंचकर अपनी हाजिरी लगा सकेगा। सेल्फी हाजिरी की वजह से कार्यालय से नदारद रहने वाले कर्मियों की मुश्किल बढ़ गई है, क्योंकि उन्हें कार्यालय पहुंचने के उपरांत ही हाजिरी लगानी होगी।

घर बैठे कर्मी इसे अपलोड नहीं कर पाएंगे, इससे हाजिरी लगाना मुश्किल होगा। जानकारों का कहना है कि जल्द ही निगम के सभी कर्मचारी इस प्रक्रिया से जुड़ जाएंगे।

सेल्फी हाजिरी लगाने के लिए पिछले दिनों प्रशिक्षण भी दिया गया था। सेल्फी हाजिरी सीधे रायपुर मुख्यालय नगरीय निकाय विभाग में लगेगी। कर्मी धीरे-धीरे सेल्फी हाजिरी लगाने लगे हैं। एक-दो माह के भीतर नगर निगम में सेल्फी हाजिरी प्रक्रिया पूरी तरह लागू हो जाएगी।

एंड्राइड फोन जरूरी

शुस्र्आती दौर में कर्मियों को अन्य माध्यम से हाजिरी लगाने की छूट मिली है, पर जल्द सभी कर्मियों को सेल्फी हाजिरी लगानी पड़ेगी। इसके लिए एंड्रायड मोबाइल जरुरी होगा। कई निगमकर्मियों के पास मोबाइल नहीं है। ऐसे कर्मियों को फिलहाल छूट दी गई है। उधर मोबाइल एप तीन चीजें रीडिंग करेगा।

फेस एरिया, आईएमईआई नंबर के आधार पर पता कर लेगा कि अटेंडेस लगाने वाला कहां है। सुबह 10.30 से विलंब होने पर हाजिरी नहीं लगेगी। इसी तरह शाम को घर जाने के पहले भूलने या फिर बैटरी खत्म होने पर सेल्फी नहीं ले पाएगा। सेल्फी से उपस्थिति दर्ज कराने के निर्देश का पालन सुनिश्चित करने नगरीय निकाय विभाग इसकी मॉनिटरिंग कर रहा है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.