कृषि मंत्री बृजमोहन की कलेक्टर को फटकार, कहा- बहस मत करोUpdated: Thu, 18 May 2017 08:52 PM (IST)

लोक सुराज के आवेदनों का निराकरण नहीं होने से भड़के कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल अधिकारियों पर जमकर बरसे।

कोरबा। लोक सुराज के आवेदनों का निराकरण नहीं होने से भड़के कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल अधिकारियों पर जमकर बरसे। कोरबा में अजगरबहार के ग्रामीणों ने समाधान शिविर के दौरान पीने व निस्तारी के लिए पानी का संकट बताया। गांव में डबरी निर्माण नहीं होने की शिकायत भी पहुंची।

मंत्री के पूछने पर जिला पंचायत सीईओ इंद्रजीत चंद्रवाल ने निराकरण होने की सपुाई दे रहे थे। इतने में मंत्री भड़क गए और सीईओ से कहा-ज्यादा बहस मत करो। सीईओ का पक्ष लेते हुए बीच में आए कलेक्टर पी दयानंद भी इस नाराजगी का शिकार हुए। बृजमोहन उन पर बरस पड़े और बोले ज्यादा बहस मत करो, मैं जो कह रहा हूं, उसका निराकरण करो।

जैसे-जैसे गर्मी में सूरज की तपिश बढ़ रही, सुराज अभियान के समाधान शिविर पहुंच रहे जनप्रतिनिधि व प्रशासनिक अफसरों का टेंप्रेचर भी हाई होता जा रहा। एक दिन पहले ही शिक्षामंत्री केदार कश्यप की मौजूदगी में पूर्व गृहमंत्री और कलेक्टर पी दयानंद के बीच ग्राम पकरिया के मंच पर गर्मागरम बहस हुई। दूसरे ही दिन वनांचल ग्राम अजगरबहार में आयोजित लोक सुराज के समाधान शिविर में एक बार फिर कलेक्टर पी दयानंद मंत्री के कोप का शिकार हुए।

शिविर में कृषि व सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल प्रशासन को प्राप्त आवेदनों की समीक्षा कर रहे थे। तभी ग्रामीण झुलसती गर्मी में पानी के संकट का हल नहीं होने मदद की गुजारिश करने पहुंचे। शिविर में भरी भीड़ के बीच मंत्री बृजमोहन ने जिला पंचायत सीईओ इंद्रजीत चंद्रवाल से पूछा कि इस आवेदन का निराकरण क्यों नहीं हुआ।

उन्होंने जवाब दिया कि निराकरण हो चुका है। इतना सुनते ही बृजमोहन भड़क गए और कहा- ज्यादा बहस मत करो। आपके सामने ही उन्हें समस्या के बारे में बताया गया। जब जरूरत है तो अब तक इसकी स्वीकृति क्यों नहीं कराई गई है। सीईओ ने पुन: कहा कि जिला पंचायत में मामला आ गया है और प्रक्रिया जारी है। हार्ड कॉपी हमारे पास है और हो सकता है कि ऑनलाइन ट्रांसफर नहीं किया गया हो। पुन: मंत्री ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि आवेदनों का निराकरण करना अफसरों की जिम्मेदारी है, सुराज में आप लोगों का और क्या काम।

इस बीच सीईओ को बचाने का प्रयास करने बीच में आए कलेक्टर पी दयानंद ने कहा कि सीईओ को आइडिया नहीं है सर। बिना देखे वे कैसे बोल सकते हैं। कलेक्टर के जवाब देने के तरीके से बृजमोहन का गुस्सा और भड़क गया। अब तक सीईओ पर बरस रहे बृजमोहन ने कलेक्टर को भी खरी-खरी सुनाते हुए कहा- वे ज्यादा बहस न करें, मैंने जो कहा है उसका निराकरण करें।

ऐसे हुई बात

मंत्री बृजमोहन- इतने आवेदन आए तो अब तक सेंक्शन क्यों नहीं हुए?

कलेक्टर दयानंद- जिला पंचायत में आ गया है सर... प्रक्रिया में है।

मंत्री बृजमोहन- लोक सुराज अभियान और किस लिए है?

सीईओ चंद्रवाल- ऑनलाइन ट्रांसफर नहीं किया होगा सर... हार्ड कॉपी हमारे पास है।

मंत्री बृजमोहन- ये कोई समस्या नहीं है... उसने किया या नहीं किया, निराकरण करना आपकी जिम्मेदारी है।

सीईओ चंद्रवाल- निराकरण हो गया है सर।

मंत्री बृजमोहन- ज्यादा बहस मत करो... मैंने पूछा है अपुसर से... तुम्हारे सामने पूछा है?

कलेक्टर दयानंद- उसको आइडिया नहीं है सर... बिना देखे ही कैसे बोल सकते हैं?

मंत्री बृजमोहन- देखो बहस मत करो... मैं जो बोल रहा हूं उसका निराकरण करो।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.