मुठभेड़ को नक्सलियों ने बताया फर्जी रावघाट बंद का आह्वानUpdated: Sun, 20 Nov 2016 11:14 PM (IST)

कांकेर। नक्सलियों की रावघाट एरिया कमेटी ने पर्चा जारी करते हुए 23 नवंबर को बंद का आह्वान किया है। रावघाट एरिया कमेटी के सचिव अर्जुन पद्दा की ओर से जारी किए गए नक्सली पाम्पलेट में 10 नवंबर को पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शोभीराम कवाची के मारे जाने को फर्जी मुठभेड़ करार दिया गया है। नक्सलियों ने स्थानीय पुलिस पर ग्रामीणों के शोषण का आरोप लगा

कांकेर। नक्सलियों की रावघाट एरिया कमेटी ने पर्चा जारी करते हुए 23 नवंबर को बंद का आह्वान किया है। रावघाट एरिया कमेटी के सचिव अर्जुन पद्दा की ओर से जारी किए गए नक्सली पाम्पलेट में 10 नवंबर को पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शोभीराम कवाची के मारे जाने को फर्जी मुठभेड़ करार दिया गया है। नक्सलियों ने स्थानीय पुलिस पर ग्रामीणों के शोषण का आरोप लगाते हुए जहां मुठभेड़ को फर्जी बताया है वहीं अपने पाम्पलेट में शोभीराम कवाची को शहीद का दर्जा भी दिया है। पाम्पलेट में यह स्वीकार किया गया है कि मुठभेड़ के बाद बरामद हुई बंदूक शोभीराम की है और वह अपने साथियों के साथ जंगल में शिकार करने गया था। दो पन्ने के पाम्पलेट में नक्सलियों ने पुलिस के कथित ज्यादतियों का विरोध करने और 23 नवंबर के बंद को सफल बनाने की अपील की है। पर्चा में बंद का प्रभाव इलाका रावघाट को ही बताया गया है और बंद से शिक्षा व स्वास्थ्य सेवाओं को मुक्त रखने की बात कही गई है।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.